Bird Flu: बस्तर में मुर्गियां, कोरबा में कबूतर तो बालोद में 12 और कौवों की मौत

- बस्तर में पड़ोसी राज्यों से मुर्गियों के परिवहन पर रोक, रायपुर में रैपिड एक्शन टीम गठित
- बालोद के कौवों का सैंपल भोपाल भेजा गया, 1-2 दिन में आएगी रिपोर्ट

By: Ashish Gupta

Published: 09 Jan 2021, 10:48 AM IST

रायपुर. पड़ोसी मध्यप्रदेश समेत पांच राज्यों में बर्ड फ्लू के मामले सामने आने बाद छत्तीसगढ़ में भी तीन दिनों से लगातार पक्षियों की मौत हो रही है। अभी तक सिर्फ बालोद जिले से ही कौवों की मौत की खबरें आ रही थीं लेकिन शुक्रवार को बस्तर में जहां दो मुर्गियों की मौत हो गई, वहीं कोरबा में तीन दिनों में 36 कबूतरों ने दम तोड़ दिया है। दूसरी ओर बालोद शह में 1 और दल्लीराजहरा में 11 और कौवों की मौत हो गई। पशुधन विभाग सभी स्थानों से सैंपल जमा कर भोपाल भेजने की तैयारी कर रहा है। बालोद में मृत पाए गए कौवों के सैंपल की रिपोर्ट 1-2 दिन में आने की संभावना है। इसके बादही बर्ड फ्लू का पता चलेगा, फिलहाल इन मौतों को संदिग्ध माना जा रहा है।

बस्तर में मुर्गियों की मौत, विभाग बेखबर
बस्तर के भड़ीसगांव में रामेश्वर नाग के यहां दो स्वस्थ मुर्गियों की मौत की खबर मिली है। डीआई लैब के डॉ. मुकेश शर्मा ने बताया कि भड़ीसगांव में मुर्गियों की मौत के संबंध में विभाग को कोई सूचना नहीं मिली है। वहीं, आंध्रप्रदेश से आ रही मुर्गियों के परिवहन पर रोक लगा दी गई है। सुकमा जिले में मुर्गियों की एंट्री बैन कर दी गई है। जबकि जगदलपुर से लगे ओडिशा के धनपूंजी बॉर्डर से अब भी मुर्गियां का परिवहन जारी है।

छत्तीसगढ़ के इस जिले में 3 दिन में 36 कबूतरों की मौत से हड़कंप, जांच में पहुंची डॉक्टरों की टीम

कोरबा में 3 दिन में 36 कबूतरों की मौत
कोरबा शहर में एक घर में पाले गए 36 कबूतरों की मौत से पशु चिकित्सा विभाग सकते में है। एसईसीएल कॉलोनी सुभाष ब्लॉक में रहने वाले बबलू मारवाह ने काफी समय से अपने घर में कबूतर पाल रखे हैं। कबूतरों की मौत पर उन्होंने पशु चिकित्सा विभाग को सूचित किया। मौके पर डॉक्टरों की टीम पहुंची। तस्दीक करने पर पाया गया कि मौत सामान्य थी, बर्ड फ्लू के लक्षण नहीं पाए गए। विभाग ने सैंपल लेकर रायपुर भेज दिया है।

बिलासपुर में सैंपलिंग
बर्ड फ्लू की आशंका पर सभी जगह अलर्ट किया गया है। सैंपलिंग भी की जा रही है। कोरबा में 36 कबूतरों की मौत के बाद वेटनरी विभाग ने सैंपलिंग की है। जांजगीर में कलेक्टर यशवंत कुमार ने उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डॉ. के.पी. पटेल को तलब कर जिले के सभी पोल्ट्री फार्म वालों की बैठक लेने कहा है। बिलासपुर कलेक्टर ने साफ कहा है कि पक्षियों में कोई भी बीमारी दिख्राई दे तो तत्काल इसकी सूचना दी जाए। वहीं कोरिया, अम्बिकापुर, जशपुर जिले में बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट किया गया है।

रायपुर में 4 सदस्यीय आरएटी टीम गठित
बर्ड फ्लू के मद्देनजर रायपुर में 4 सदस्यीय रैपिड एक्शन टीम बना दी गई है। टीम में पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ डॉ. संजीव राय, डॉ. विक्रम पाठक, डॉ. रागिनी हजारी और सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी उपासना वर्मा शामिल हैं। पशु चिकित्सा सेवाएं के जॉइंट डायरेक्टर डॉ. डी.के. नेताम ने बताया कि बर्ड फ्लू की रोकथाम, क्षेत्रीय संस्थाओं से जानकारी प्राप्त करने, असामान्य परिस्थिति में आवश्यक उपाय करने एवं सैंपल भेजने के लिए टीम गठित की गई है। रायपुर जिले के किसी भी क्षेत्र से अभी तक पक्षियों के मरने की जानकारी नहीं मिली है।

Job: युवाओं के लिए जॉब का सुनहरा मौका, 8 हजार से अधिक पदों पर की जाएगी भर्ती

एक-दो दिन में आएंगी सैंपल की रिपोर्ट
छत्तीसगढ़ में भी पशुधन विकास विभाग ने सभी कलेक्टरों व एसपी को पत्र लिखकर सीमावर्ती प्रदेशों से पक्षियों के परिवहन पर कड़ी नजर रखने कहा है। वन विभाग, स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के साथ मिलकर विभाग ने पोल्ट्री फार्मों की निगरानी शुरू कर दी है। विभाग के अधिकारियों की नजर बालोद के मृत 3 कौवों के भेजे गए सैंपल पर टिकी हुई है। उम्मीद जताई जा रही है कि एक-दो दिन में रिपोर्ट अधिकारियों को मिल जाएगी। प्रदेश में 7 सरकारी समेत 6087 पोल्ट्री फार्म हैं। रायपुर में इसकी संख्या 85 है। अधिकारियों का कहना है कि पोल्ट्री फार्मों पर समय-समय पर कर्मचारी पहुंचकर सैंपलिंग करते रहते हैं। पोल्ट्री फार्म संचालकों को भी किसी कारणवश यदि पक्षियों की मौत होती है, इसकी जानकारी तुरंत जिला अधिकारी को देने के लिए निर्देश जारी किया गया है।

पशुधन विकास के संचालक मथेश्वरन वी. ने कहा, पोल्ट्री फार्मों से निरंतर सैंपल लेकर जांच की जाती है। अभी तक किसी भी फार्म से बर्ड फ्लू के लक्षण वाली जानकारी नहीं मिली है। बर्ड फ्लू को लेकर घबराने वाली कोई बात नहीं है। बालोद के पक्षियों का सैंपल भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट एक-दो दिन में मिल जाएगी।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned