कृष्णा सारथी की पुलिस कस्टडी मौत मामले में बीजेपी ने की दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

Youth death in custody: सूरजपुर जिले के चंदौरा थाना में कृष्णा सारथी की पुलिस कस्टडी में मौत मामले की जांच कर लौटी भाजपा की दो सदस्यीय टीम ने पुलिस के रवैए पर सवाल उठाया है।

By: Ashish Gupta

Published: 07 Jul 2019, 02:57 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले के चंदौरा थाना में कृष्णा सारथी की पुलिस कस्टडी में मौत (youth death in custody) का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। भाजपा इस मुद्दे को लेकर प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर हमलावर हो गई है। कृष्णा सारथी की पुलिस कस्टडी में मौत मामले की जांच कर लौटी भाजपा की दो सदस्यीय टीम ने पुलिस के रवैए पर सवाल उठाया है।

Chhattisgarh CM ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं को छत्तीसगढ़ी में लिखा भावुक पत्र, कही ये बात

भाजपा जांच समिति के सदस्य विधायक कृष्णमूर्ति बांधी ने कहा, कृष्णा सारथी की मौत के इतने दिन बाद भी यह स्पष्ट नहीं है कि कृष्णा सारथी ने आत्महत्या की है या उसकी हत्या की गई है। उन्होंने इस मामले में कई ऐसे तथ्य सामने आए हैं जिससे चंदौरा थाने की पुलिस सवालों के घेरे में है।

 

विधायक सौरभ सिंह ने भी इस मामले में कई ऐसे तथ्यों का जिक्र किया जोकि पुलिस के रवैए पर सवाल उठाते हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस ने कृष्णा सारथी के खिलाफ बिना एफआईआर दर्ज किए गिरफ्तार किया था। वहीं मौत के इतने दिन बाद भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई है। इसके साथ ही मृतक के पीठ पर मारपीट के निशान भी मिले हैं।

Chhattisgarh CM ने PM मोदी को लिखा खत, वन अधिनियम को लेकर की ये अपील

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कृष्णा सारथी की मौत के लिए चंदौरा थाने की पुलिस को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा, इस मामले में प्रदेश सरकार से दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। साथ ही मृतक के परिजनों को मुआवजा दिए जाने की मांग की है। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी भी मौजूद थे।

Chhattisgarh CM भूपेश बोले - महंगाई बढ़ाने वाला बजट तो रमन ने कहा रोजगार में होगा इजाफा

बतादें कि सूरजपुर के चंदौरा थाने में पुलिस कस्टडी में कृष्णा सारथी की संदिग्ध परिस्थिति में फांसी पर लटकी लाश मिली थी। इस मामले में 10 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था।

Youth death in custody से जुड़ी खबरें यहां पढ़िए

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर या Download करें patrika Hindi News App.

BJP
Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned