राष्ट्रीय संगठन सह महामंत्री शिव प्रकाश की नजर बंगाल के साथ छत्तीसगढ़ पर भी, पवन साय से ली है जानकारी

- 2015 से पश्चिम बंगाल में सक्रिय हैं शिव, 2023 में छत्तीसगढ़ में चुनाव
- बूथ लेवल पर पार्टी को मजबूत करने में जुटा संगठन

By: Ashish Gupta

Published: 10 Jan 2021, 05:53 PM IST

रायपुर. प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2023 (Chhattisgarh Assembly Election 2013) के पहले भाजपा में सबसे बड़ा संगठनात्मक बदलाव राष्ट्रीय संगठन सह महामंत्री के पद से सौदान सिंह को हटाकर उनकी जगह पर शिव प्रकाश को जिम्मेदारी देना रहा है। ये वही शिव प्रकाश हैं जिन्होंने प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी के अभेद गढ़ में सेंध लगा रखी है। यहां तक की भाजपा सत्ता में आने के सपने देख रही है। सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश, जिन्हें पर्दे के पीछे रहकर पार्टी को उठाने का खासा अनुभव है। हालांकि वे अभी छत्तीसगढ़ नहीं आ रहे हैं, मगर उन्होंने संगठन महामंत्री पवन साय से फोन पर चर्चा जरूर की है।

सूत्रों के मुताबिक साय ने उन्हें राज्य में भाजपा और संगठन की स्थिति की जानकारी दी है। वे लगातार सिर्फ साय के ही संपर्क में हैं। माना जा रहा है कि शिव प्रकाश बंगाल में रहते हुए ही राज्य में संगठन को मजबूत करने के लिए निर्देश दे रहे हैं। हालांकि यह भी सच है कि उन्होंने अभी तक भाजपा के किसी भी पदाधिकारी से संपर्क नहीं किया है।यहां तक की प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय से भी नहीं।

CG Board Exam 2021: मई के पहले हफ्ते में हो सकती है बोर्ड परीक्षा, जल्द घोषित होंगे एग्जाम के डेट

'पत्रिका' ने विष्णुदेव साय से जब पूछा कि क्या उनकी शिव प्रकाश से चर्चा हुई है, या उन्होंने संपर्क किया तो बोले, अभी तक तो नहीं। गौरतलब है कि प. बंगाल में मार्च-अप्रैल में विधानसभा चुनाव संभावित हैं। इसके बाद ही शिव प्रकाश का दौरा हो सकता है। तब तक पार्टी को मजबूत करने की सीधे जिम्मेदारी प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी और सह प्रभारी नितिन नबीन ने उठा ली है। इनके लगातार दौरे हो रहे हैं। ये भी शिव प्रकाश के संपर्क में हैं।

बूथ स्तर पर गड़बड़ाए गणित को सुधारना होगा
ऐसा माना जाता है कि शिव प्रकाश ने ही बंगाल में पार्टी को खड़ा किया। 2015 में उन्हें पार्टी ने बंगाल भेजा, जिसके बाद से अब भाजपा वहां सत्ता में आने का सपना देख रही है। छत्तीसगढ़ में भी हालात कुछ ऐसे ही हैं। यहां कार्यकर्ता पार्टी नेतृत्व से नाराज हैं। प्रदेश प्रभारी और सह प्रभारी भी यह कह चुके हैं कि बूथ लेवल पर काम करने की जरुरत है। ऐसे में शिव प्रकाश की भूमिका सबसे अहम मानी जा रही है।

Siltara Plant Blast: हवाओं का रुख बदलने से बची हजारों लोगों की जान वरना हो सकता था बड़ा हादसा

सौदान का मुख्यालय था रायपुर, शिव का भोपाल
राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री रहे सौदान सिंह का मुख्यालय रायपुर था। वे रायपुर में रहकर अपने कार्यक्षेत्र वाले राज्यों का काम-काज देखते थे। रायपुर में रहने के कारण यहां उनका विशेष ध्यान था। मगर, शिव प्रकाश का मुख्यालय भोपाल बनाया गया है। वे यहां आते रहेंगे। जानकार मानते हैं मुख्यालय का खासा प्रभाव रहता है।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned