बलात्कार और हत्या की वारदातों से महिला अस्मिता लहूलुहान, सरकार महिलाओं की सुरक्षा कर पाने में नाकाम : भाजपा

- नाबालिग सगी बहनों के साथ 8 युवकों द्वारा किए गए सामूहिक दुष्कर्म की घटना प्रदेश सरकार के लिए कलंक
- चार माह में घटित बलात्कार, हत्या व घरेलू हिंसा के आँकड़े ही प्रदेश सरकार को शर्मसार करने के लिए पर्याप्त हैं : विधानी

By: Bhupesh Tripathi

Published: 31 Jul 2020, 04:28 PM IST

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष पूजा विधानी ने प्रदेश की क़ानून-व्यवस्था और आम लोगों की सुरक्षा के मुद्दे को लेकर एक बार फिर प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है। बलौदाबाजार जि़ले में पलारी थाना क्षेत्र के केसला-दतान मार्ग पर दो नाबालिग सगी बहनों के साथ 8 युवकों द्वारा किए गए सामूहिक दुष्कर्म की घटना को प्रदेश सरकार के लिए कलंक बताकर श्रीमती विधानी ने कहा कि इस घटना के बाद क़ानून- व्यवस्था और महिला-सुरक्षा के खोखले दावों के आईने में कांग्रेस सरकार का विकृत चेहरा दिख रहा है। अब इस सरकार को सत्ता पर एक पल भी बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं रह गया है।

भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती विधानी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने क़दम-क़दम पर प्रदेश की मातृ-शक्ति के साथ घोर विश्वासघात किया है। अब महिलाओं की अस्मिता और जान तक ख़तरे में डालकर प्रदेश सरकार नारी-सशक्तिकरण के नाम पर सिफऱ् नित-नए स्वांग रचने में मशगूल है। श्रीमती विधानी ने प्रदेश के विभिन्न इलाकों में हाल ही के महीनों में मासूम बच्चियों के साथ बलात्कार और उनकी हत्या के मामले जिस रफ़्तार से सामने आए हैं, उसके बाद भी प्रदेश सरकार क़ानून-व्यवस्था और नागरिक सुरक्षा के नाम पर डींगें हाँकती हुई जऱा भी शर्म महसूस नहीं कर रही है। प्रदेशभर में बलात्कार और महिलाओं व मासूम बच्चियों की हत्या की ये क्रूर घटनाएँ पूरे प्रदेश में क़ानून-व्यवस्था और महिलाओं की सुरक्षा के खोखले दावों की ज़मीनी सच्चाई का आईना हैं। प्रदेश की कांग्रेस सरकार इस आईने में अपना विकृत चेहरा कब देखेगी?

भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती विधानी ने कहा कि प्रदेश के लोगों की सुरक्षा तक नहीं कर पाने वाली सरकार को पिछले चार माह में महिलाओं व मासूम बच्चियों के साथ घटित बलात्कार, हत्या व घरेलू हिंसा के आँकड़े ही शर्मसार करने के लिए पर्याप्त हैं। ये आँकड़े सरकार को झकझोरने के लिए पर्याप्त हैं कि छत्तीसगढ़ में बलात्कार और हत्या की वारदातों ने महिला अस्मिता को लहूलुहान करके रख दिया है। श्रीमती विधानी ने कहा कि नारी उत्थान और महिला सशक्तिकरण के राजनीतिक नारों का शोर मचाने वाली प्रदेश सरकार महिलाओं की सुरक्षा कर पाने में नाकारा साबित हो रही है।

प्रदेश सरकार महिलाओं की सुरक्षा को ताक पर रख ही दिया है, साथ ही प्रदेश की मातृ-शक्ति के साथ खुला विश्वासघात कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अब शराबबंदी के बजाय छलावा करके घर-घर शराब पहुँचा और अब ऑनलाइन होम डिलीवरी करा रहे हैं।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned