लॉकडाउन से पहले शुरू हुई कालाबाजारी, 100 रुपए किलो बिका टमाटर

एक सप्ताह के लॉकडाउन में इस बार सभी जरूरी चीजों की खरीदी-बिक्री पर रोक लगा दी गई है। यहां तक कि लोगों को सब्जियां भी नहीं मिल पाएंगी। एेसे में लोग बाजार में खरीदी के लिए टूट पड़े। किराना, राशन और सब्जी दुकानों में जमकर भीड़ देखने को मिली।

By: Karunakant Chaubey

Published: 20 Sep 2020, 10:07 PM IST

रायपुर. लॉकडाउन लगने से पहले लोग दैनिक उपयोग की वस्तुएं खरीदने के लिए बाजारों में टूट पड़े। कई जगह से खाद्य वस्तुएं अधिक दाम में बेचने की सूचनाएं भी प्रशासन तक पहुंची। इसके बाद कलेक्टर ने खाद्य विभाग के अधिकारियों की टीम को कालाबाजारी करने वालों पर कार्रवाई करने के लिए तैनात कर दिया है। एक सप्ताह के लॉकडाउन में इस बार सभी जरूरी चीजों की खरीदी-बिक्री पर रोक लगा दी गई है। यहां तक कि लोगों को सब्जियां भी नहीं मिल पाएंगी। एेसे में लोग बाजार में खरीदी के लिए टूट पड़े। किराना, राशन और सब्जी दुकानों में जमकर भीड़ देखने को मिली।

नशे की वस्तुओं की कीमत दोगुनी

लॉकडाउन की सूचना लगते ही व्यापारियों ने गुटखा, गुड़ाखू, सिगरेट और बीड़ी की कीमत दो गुना कर दी है। इसके अलावा बाजार में मिलने वाले शक्कर, दाल और चावल की कीमत में भी ८ से १० प्रतिशत इजाफा देखने को मिला।

कालाबाजारी करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए जांच टीम बना दी गई है। कालाबाजारी की शिकायत आने पर संबंधित दुकान सील कर दी जाएगी।
-डॉ. एस. भारतीदासन, कलेक्टर, रायपुर

सब्जी दुकानदारों ने उठाया फायदा, टमाटर 100 रुपए बिका

राजधानी के शहरी इलाकों 21 सितंबर रात 9 बजे से एक सप्ताह के लिए पूर्ण लॉकडाउन का आदेश जारी होने के बाद रविवार को सब्जियों के दाम आसमान में पहुंच गए। थोक सब्जी बाजार रविवार को बंद होने के कारण फुटकर व्यापारियों ने सब्जियों को मनमानी कीमत पर बेचा। ग्राहकों के मुताबिक टमाटर पिछले महीने 40 से 50 रुपए किलो में बिक रहा था रविवार को उसकी कीमत ८० से १०0 रुपए किलो तक पहुंच गई। अन्य सब्जियां भी काफी महंगी बिकीं। कोई भी सब्जी 40 रुपए प्रति किलो से कम में नहीं थी।

रविवार के कारण थोक बाजार बंद के कारण चिल्हर व्यपारियों ने सब्जियों का कीमत बढ़ाकर बेचा है। सोमवार को थोक बाजर खुलने के बाद सब्जियों के कीमत में गिरावट आएगी।

-टी. श्रीनिवास रेड्डी, अध्यक्ष, डुमरतराई थोक सब्जी बाजार

 

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned