scriptBooster doze crisis for 18 to 59 age group | रायपुर में बूस्टर डोज 386 का, बस्तर या सरगुजा वालों को 3000 तक का पड़ेगा | Patrika News

रायपुर में बूस्टर डोज 386 का, बस्तर या सरगुजा वालों को 3000 तक का पड़ेगा

बूस्टर डोज अटका: 18 से 59 वर्ष आयुवर्ग के लिए सिर्फ निजी अस्पतालों की नीति से बढ़ा टेंशन


प्रदेश के 28 में से सिर्फ 3 जिलों में लग पा रहे 18 से 59 आयु वर्ग वालों को बूस्टर डोज
बाकी 25 जिलों वालों को पैसा और समय दोनों ही बहुत खर्च करना पड़ रहा

रायपुर

Published: May 09, 2022 10:11:38 pm

शिव शर्मा
रायपुर. आबादी के सबसे बड़े आयुवर्ग यानी 18 से 59 वर्ष को booster dose (बूस्टर डोज) लगाने का जिम्मा सिर्फ निजी अस्पतालों को देने की नीति mission vaccination 'मिशन वैक्सीनेशन' की राह में सबसे बड़ा रोड़ा बन चुकी है। अभी छत्तीसगढ़ में सिर्फ 3 जिलों- राजधानी raipur, durg & bhilai (रायपुर, दुर्ग और बिलासपुर) के 5-6 निजी अस्पताल ही ये डोज लगा रहे हैं। बाकी 25 जिलों के लोगों को इसके लिए दूसरे जिले तक जाना पड़ेगा। वहीं बस्तर और सरगुजा संभाग के लोगों को पूरे 2 दिन सिर्फ इसी काम के लिए निकालना पड़ेगा। इतने समय के साथ-साथ लगभग 3 हजार रुपए भी खर्च होंगे, जबकि टीके की कीमत GST जीएसटी मिलाकर 400 रुपए भी नहीं।
समस्या को ऐसे समझें..
केस 1: जशपुर निवासी 51 वर्षीय विपिन पांडे को कोरोना टीके का दूसरा डोज लगाए हुए 11 माह हो चुके हैं। इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए उन्हें बूस्टर डोज लगवाना है। इसके लिए उन्हें रायपुर या दुर्ग ही आना पड़ेगा। आवागमन का साधन सिर्फ बस है। जशपुर से रायपुर पहुंचने में ही 12-15 घंटे लग जाएंगे। टीका लगवाकर तुरंत वापसी भी संभव नहीं। रात में रुकना ही पड़ेगा। टीका तो सिर्फ 386 रुपए का है, लेकिन बस किराया, रुकने-खाने में ही लगभग 3 हजार रुपए और लग जाएंगे।
vaccination
रायपुर में बूस्टर डोज 386 का, बस्तर या सरगुजा वालों को 3000 तक का पड़ेगा
केस2: दन्तेवाड़ा निवासी सामाजिक कार्यकर्ता जयनारायण सिंह ने बताया, वे अपनी पत्नी आशा सिंह को बूस्टर डोज लगवाना चाहते हैं। इसके लिए उन्हें 400 किमी दूर रायपुर जाना होगा। बस का एक तरफ का किराया 870 से 1000 रुपए, यानि 1800 से 2000 रुपये बस किराया, हॉस्पिटल तक ऑटो, ठहरने व भोजन पर लगभग 2500 रुपये का खर्च मिलाकर प्रति व्यक्ति लगभग 4500 रुपए का खर्च तय है। इसके अलावा आने-जाने में 36 घंटे का समय भी लगेगा ही।
यही समस्या उत्तर और दक्षिण chhattisgarh छत्तीसगढ़ के लोगों की है। उत्तर में कोरिया, सूरजपुर, बलरामपुर सहित पूरा सरगुजा संभाग और बस्तर संभाग में नारायणपुर, दंतेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर और कोंडागांव वासियों के लिए बूस्टर डोज लगवाना हिमालय चढऩे जैसा हो गया है।
कोरोना संक्रमण की स्थिति...
अप्रैल में 0 प्रतिशत पर पहुंच गई संक्रमण दर 8 मई की स्थिति में 0.61 प्रतिशत है। जब प्रदेश में कुल एक्टिव मरीज 10 से कम रह गए थे तो शासन ने मास्क की अनिवार्यता खत्म कर दी थी। फिर जैसे ही केस बढऩे लगे मास्क की वापसी हो गई। अभी कुल एक्टिव मरीज 40 हैं। तब 23 जिले कोरोना मुक्त हो चुके थे, जिनकी संख्या अब घटकर 17 रह गई है। राजधानी रायपुर में एक्टिव मरीज 13 हैं तो बिलासपुर में 8 हैं। पहले की तीनों लहरों में सबसे ज्यादा केस इन्हीं दो और दुर्ग जिले में बढ़े थे।
और टीकाकरण का अपडेट ...
8 मई की स्थिति में 100 प्रतिशत 18 प्लस आबादी को पहला डोज लग चुका है। दूसरा डोज 87 प्रतिशत को। 12 से 14 और 15 से 18 आयु वर्ग में भी 59 से 71 प्रतिशत को पहला डोज लग चुका है। इनके दूसरे डोज में भी खासी प्रगति है। 60 वर्ष से ऊपर आयु वालों को सरकारी खर्चे में 4,91,968 बूस्टर डोज भी लग चुके हैं। यहां भी लक्ष्य का 15 प्रतिशत हासिल हो चुका है। असली समस्या है 18 से 59 वर्ष वालों को बूस्टर डोज देने में। राज्य की आधी से ज्यादा आबादी यानी 1 करोड़ 70 लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य है जो 8 मई तक सिर्फ 4,281 लोगों को ही लग पाया है। यानी लक्ष्य के 1 प्रतिशत पर पहुंचने में ही हजारों कदम चलना है।
लेकिन टीकाकरण अधिकारी के हाथ बंधे हैं
अभी रायपुर में एमएमआई नारायणा, दुर्ग में वर्धमान अस्पताल, भिलाई में शंकराचार्य अस्पताल और बिलासपुर के अपोलो अस्पताल में 18 से 59 वर्ष तक के लोगों को बूस्टर डोज लगाया जा रहा है। प्रदेश में अन्य कोई अस्पताल संचालक रुचि नहीं ले रहे हैं। इसमें राज्य शासन का कोई दखल नहीं है। अस्पतालों को वैक्सीन खुद खरीदना है। इसके लिए कोविन एप माध्यम है। निजी अस्पतालों में 225 रुपए प्रति डोज है। जिसमें 5 प्रतिशत जीएसटी 150 सर्विस चार्ज मिलाकर 386 रुपए 30 पैसे लोगों को देना पड़ रहा है। कोविन पोर्टल में खरीदने से सप्लाई तक की हम निगरानी कर रहे हैं। कोरबा में कुछ अस्पतालों ने पहले रुचि दिखाई थी अब वो भी नहीं करना चाह रहे हैं।
डॉ. वीआर भगत, राज्य टीकाकरण अधिकारी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

BJP के नए संसदीय बोर्ड और चुनाव समिति का गठन, गडकरी व शिवराज की छुट्टी, देखिए कौन-कौन नेता शामिलकिडनैंपिग के आरोपी हैं बिहार के कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह, सरेंडर वाले दिन ही ली शपथ, नीतीश बोले-मुझे जानकारी नहींदिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉन्च किया ‘मेक इंडिया नंबर-1’ कैंपेन, पूछा - आजादी के 75 वर्ष बाद भी हम बाकी देशों से पीछे क्यों?सुप्रीम कोर्ट ने 'रेवड़ी कल्चर' के खिलाफ सभी पक्षों से मांगे सुझाव, 22 अगस्त तक दिया वक्तशिवमोगा तनाव पर कर्नाटक BJP नेता केएस ईश्वरप्पा का विवादित बयान- मुस्लिम यहां शांति से रहे या पाकिस्तान चले जाएंMumbai News: मुंबई में डेंगू, मलेरिया और Swine Flu का तांडव जारी, 7 महीने के भीतर स्वाइन फ्लू से 43 लोगों की मौतICC ने जारी किया '2023-27 FTP' का पूरा कार्यक्रम, देखिए टीम इंडिया का पूरा शेड्यूलकेरल कोर्टः यौन उत्पीड़न की शिकायत पहली नजर में नहीं टिकेगी, जब महिला ने 'यौन उत्तेजक' पोशाक पहनी हो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.