प्रदेश में बॉडी बनाने की दवाओं का हर माह १ करोड़ का कारोबार

प्रदेश में हर माह ऐसे पाउडर, कैप्सूल या टेबलेट का १ करोड़ रुपए से अधिक का कारोबार हो रहा है। राजधानी में ही ४० से ५० लाख का कारोबार है। स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारी सब कुछ जानते हुए भी चुप्पी साधे हुए हैं।

रायपुर. अक्सर ज्यादातर लोगों की चाहत होती है की वह अच्छी बॉडी बनाएं, जिससे वह अन्य लोगों को अपनी तरफ आकर्षित कर सकें। इसके लिए वह जिम में जाकर घंटों पसीना बहाते हैं तथा बिना किसी डॉक्टर या डायटीशियन की सलाह के पाउडर, कैप्सूल या टेबलेट का प्रयोग करते है। जिम संचालक भी बिना लाइसेंस के धड़ल्ले से ऐसे पाउडर, कैप्सूल या टेबलेट को बेच रहे हैं। प्रदेश में हर माह ऐसे पाउडर, कैप्सूल या टेबलेट का १ करोड़ रुपए से अधिक का कारोबार हो रहा है। राजधानी में ही ४० से ५० लाख का कारोबार है। स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारी सब कुछ जानते हुए भी चुप्पी साधे हुए हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि आजकल युवाओं में बॉडी बनाने का बहुत क्रेज है। कई युवा तो ऐसे है, जो चाहते हैं कि उनकी बॉडी 8 से 10 माह के अंदर ही बन जाए। इसके लिए वह दवाओं का उपयोग करने लगते हैं। इससे जितनी जल्दी बॉडी बनती है, उतनी ही जल्दी इसका बुरा असर भी शरीर पर दिखने लगता है। कई युवाओं को जिन्होंने बॉडी बनाने के लिए शॉर्ट कट रास्ता अपनाया, यही चीज उनकी मौत का कारण भी बन जाती है।

जिम में यदि पाउडर या अन्य खाद्य सामग्री बेची जा रही है तो खाद्य विभाग से लाइसेंस लेना अनिवार्य होता है। यदि ऐसा नहीं हो रहा तो जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।
राजेश शुक्ला, सहायक नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग

बिना डॉक्टर या डायटीशियन की सलाह के पाउडर, कैप्सूल या टेबलेट लेने से किडनी डैमेज होने की आशंका ज्यादा होती है। जिम में मिलने वाले पाउडर में कैरेटीन की मात्रा अधिक होती है।
डॉ. वीएन मिश्रा, एचओडी, मेडिसिन विभाग, आंबेडकर अस्पताल

विगत कुछ समय से इसके कारोबार में काफी तेजी आई है। जिम में देने जाने वाले पाउडर को फूड प्रोडक्ट माना जाता है, जिससे यह हर जगह बेची जाती है। शासन को ऐसा नियम बनाएं चाहिए कि यह सिर्फ दवा दुकानों पर ही मिले।
ठाकुर राजेश्वर सिंह, अध्यक्ष, ड्रग एंड केमिस्ट एसोसिएशन, रायपुर

abhishek rai
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned