मेहंदी लगाने 26 साल की युवती को बुलाया, फिर अपहरण कर बद्सलूकी की सारी हदें पार की

Lalit Singh

Publish: Sep, 17 2017 03:59:03 (IST) | Updated: Sep, 17 2017 04:03:49 (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
मेहंदी लगाने 26 साल की युवती को बुलाया, फिर अपहरण कर बद्सलूकी की सारी हदें पार की

गुढिय़ारी थाने में २६ वर्षीय युवती को मेहंदी लगाने के लिए बुलाकर अपहरण करने की एफआईआर दर्ज की गई है।

रायपुर. गुढिय़ारी थाने में २६ वर्षीय युवती को मेहंदी लगाने के लिए बुलाकर अपहरण करने की एफआईआर दर्ज की गई है। विकासनगर, गुढि़यारी निवासी पीडि़ता ने शिकायत दर्ज कराई है कि आरोपी अमन बेग, गुमेश्वरी कोसले ने उसे रामनगर ओवरब्रिज के नीचे बुलाया और अपनी मोटर साइकिल मे बिठाकर खमतराई रावांभाठा ले जाकर एक कमरे मे बंद कर दिया। कमरे के बंद करके युवती के साथ मारपीट भी की गई। कुछ देर में जब आरोपी बाहर गए तो मौका मिलते ही प्रार्थिया वहां से भाग निकली।

उरला से मासूम गायब

थाना उरला में एक ५ वर्षीय बच्चे के अपहरण का मामला दर्ज हुआ है। बच्चे के पिता ने उरला थाने में अज्ञात व्यक्ति के नाम से शिकायत दर्ज कराई है। पीडि़त ने पुलिस से बताया कि बच्चे को उरला देशी शराब दुकान पास से बहला फुसला कर अपहरण किया गया है। पुलिस ने अपराध कायम कर जांच शुरू कर दी है।

Read more: झोलाछाप डॉक्टर की क्लीनिक सील, गर्ल्स को देता था ऐसी दवा जिसे जान आप भी रह जाएंगे दंग

न्यूड फोटो या गंदे कमेंट पर लाइक किया तो जाएंगे जेल, ये हैं प्रावधान
यदि आप सोशल नेटवर्किंग साइड फेसबुक, वाट़्सअप, इंस्टाग्राम या अन्य माध्यमों पर किसी लड़की की न्यूड (अश्लील) फोटो या गंदे पोस्ट डाली। उस गंदे पोस्ट पर कमेंट किया तो आप मुश्किल में पड़ सकते हैं। यही नहीं यदि आप उस पोस्ट को लाइक भी किए तो भी सजा के भागीदार हो जाएंगे। आपको जेल हो सकती है। गंदे कमेंट और अश्लील फोटो अपलोड करने वाले आरोपी को आईटी कानून के तहत कड़ी सजा का प्रावधान है।
आईटी यानी सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम इलेक्ट्रानिक संचार माध्यमों के बीच होने वाले मैसेज, फोटो और आंकड़ों के आदान-प्रदान पर लागू होता है। इस एक्ट के धारा ६६ ए के तहत झूठे और आपत्तिजनक कमेंट करने पर सजा का प्रावधान है। इस एक्ट के तहत कंप्यूटर या अन्य संचार माध्यमों से ऐसे संदेश भेजना सख्त मना है। इन संदेशो में परेशानी, असुविधा, खतरा, विघ्न, अपमान, चोट, सांप्रदायिकता, नक्सली टेरेरिज्म को समर्थन, साइबर टेरेरिज्म को समर्थन, अपराधिक उकसावा, शत्रुता या दुर्भावाना आदि शामिल हैं। ऐसा करने पर तीन साल की सजा और जुर्माना हो सकता है।
कमेंट और लाइक करने से बचे
यदि कोई आपत्तिजनक कमेंट या फोटो है तो उसे पर लाइक या कमेंट करने से बचाना चाहिए। क्योंकि इस एक्ट के तहत इस तरह के पोस्ट करने वाले व्यक्ति के साथ ही लाइक और कमेंट करने वाले व्यक्ति को भी सजा हो सकती है।
कमेंट और कंटेंट से बढ़ जाएगी मुश्किलें
वाट्सअप या फेसबुक पर कोई भी गंदे फोटो अपलोड या कमेंट करने से पहले सौ बार सोच लें। यदि आपका पोस्ट अश्लील, भड़काऊ, किसी का मजाक बनाना, मानहानी करने वाला, किसी की छवि खराब करने वाला या किसी की प्राइवेसी भंग हो सकती है तो आप पर आईटी एक्ट के तहत कार्रवाई हो सकती है। आईटी के धारा-६६ ए के तहत आपको ५ साल की सजा और जुर्माना भी हो सकता है।
फर्जी एकाउंट बनाया तो
यदि फर्जी एकाउंट बनाया तो भी आपके ऊपर कार्रवाई हो सकती है। क्योंकि किसी अन्य व्यक्ति के नाम से आईडी बनाना और बिना उसकी अनुमति से फोटो अपलोड करना कानूनन गलत है। ऐसा करने पर आईटी की धारा-६६सी के तहत तीन साल की सजा हो सकती है। दूसरे के एकाउंट से छेड़छाड़ या फिर हैंकिग या यूज करने पर भी सजा हो सकती है।
ऑनलाइन शोषण या पोर्नाेग्राफी देखने पर
सोशल साइट पर सेक्सुअल सामग्री का आदान-प्रदान या चाइल्ड पोर्नाेग्राफी देखने या उसे किसी और को भेजना, ऑनलाइन शोषण करना भी कानूनीतौर पर गलत है। शिकायत पाए जाने पर पांच साल की सजा और जुर्माना हो सकता है। यदि आप सोशल साइट्स पर कमेंट कर रहे हैं तब भी आपकी पहचान हो जाती है।

 

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned