दहेज में कार व एक लाख मांगे, पति व जेठानी पर जुर्म दर्ज

महिला को प्रताडि़त कर दहेज में एक कार व एक लाख रुपए नकद राशि मांगने वाले आरोपी पति व जेठानी के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।

raipur/ बैकुंठपुर/सोनहत. महिला को प्रताडि़त कर दहेज में एक कार व एक लाख रुपए नकद राशि मांगने वाले आरोपी पति व जेठानी के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।

पुलिस चौकी रामगढ़ के अनुसार बेनिया दफाई वेस्ट चिरमिरी पोड़ी थाना, वर्तमान पता ग्राम चुलादर चौकी रामगढ़ निवासी आवेदिका जयललिता गुप्ता ने दहेज प्रताडऩा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। मामले में पीडि़ता व गवाहों का बयान लिया गया। जिसमें 25 जुलाई से 4 अगस्त 2019 के बीच पति आशीष केशरवानी एवं जेठानी प्रीति केशरवानी द्वारा आवेदिका से एक लाख, एक कार दहेज की मांग कर प्रताडि़त करना, पति एवं पति के नातेदार द्वारा क्रूर व्यवहार करना पाया गया।

पीडि़ता ने अपनी शिकायत में बताया कि 2 जून 2017 को सामाजिक रिति रिवाज के अनुसार चिरमिरी निवासी आशीष केशरवानी के साथ मेरी शादी हुई है। हमारे दाम्पत्य जीवन से एक बच्ची हुई है, जो आज 1 वर्ष की है। मेरे पति मुझे हमेशा शारीरिक एवं मानसिक रूप से लगातार प्रताडि़त करते आ रहे हैं, कि अपने पिता से एक लाख व स्विफ्ट कार ले कर आने पर ही तुमको अच्छे से रखूंगा। जिससे मैं अपने पति को कई बार समझाया, लेकिन मेरे पति नहीं मानते हैं।

घटनातिथि 25 जुलाई को पति आशीष एवं जेठानी प्रीति केशरवानी मुझे मारपीट गाली गलौज एवं जान से मारने की धमकी देने लगे। जिससे मैं किसी तरह जान बचाकर सामने पड़ोसी के घर शरण ली थी। इस दौरान पड़ोसी ने बड़े जेठ को फोन से बुलाकर मुझे उनके घर भेज दिया था। घटना के बाद अपने पिता को फोन करने पर26 जुलाई 2019 को अपने मायके आ गई हूं।

इस दौरान मेरे पति मायके में आकर बोले- दहेज का सामान व नकद व्यवस्था हुआ, वरना तुमको नहीं ले जाउंगा। मैं अपने पति व ससुराल वालों के कृत्य से तंग आ चुकी हूं। मामले में आरोपियों के खिलाफ धारा 498-ए के तहत अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया है।

ramdayal sao Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned