सीबीएसई के ग्रेडिंग सिस्टम को शिक्षक-छात्रों ने बताया बेहतर

10 प्रतिशत स्टूडेंट्स ग्रेडिंग बनाने के लिए देंगे परीक्षा, परीक्षा रद्द होने और नए फैसले पर स्टूडेंट्स व टीचर्स की राय

By: Devendra sahu

Published: 29 Jun 2020, 01:17 AM IST

रायपुर केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने कोरोनाकाल के मद्देनजर 10वीं और 12वीं की स्थगित परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है। पूर्व में हुई परीक्षाओं के आधार पर शेष परीक्षाओं में ग्रेडिंग देने की बात सीबीएसई प्रबंधन ने की है। सीबीएसई के इस नए ग्रेडिंग सिस्टम को प्रदेश में बोर्ड के माध्यम से स्कूलों का संचालन करने वाले प्राचार्य, शिक्षकों ने सर्वमान्य बताया है। छत्तीसगढ़ के 90 प्रतिशत विद्यार्थी भी इस सिस्टम को ठीक बता रहे हैं। सीबीएसई बोर्ड के माध्यम से 10वीं और 12वीं के परीक्षा देने वाले 10 प्रतिशत विद्यार्थियों का कहना है कि सिस्टम तो ठीक है, लेकिन प्रतिशत अपग्रेड होने के लिए वे भविष्य में परीक्षा देंगे।

प्रदेश के 2 लाख से ज्यादा छात्रों को फायदा
विशेषज्ञों के अनुसार सीबीएसई के नए ग्रेडिंग सिस्टम से प्रदेश के 2 लाख से ज्यादा छात्रों को फायदा होगा। औसत प्रतिशत नंबर लाने वाले विद्यार्थी सीबीएसई के इस निर्णय से बेहद खुश है। कॉम्पीटिशन एग्जाम की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों की इस नए सिस्टम ने थोड़ी चिंता बढ़ाई है, लेकिन कोरोनाकाल के मद्देनजर वे भी इस ग्रेडिंग सिस्टम को ठीक मान रहे हैं।

15 जुलाई को जारी होगा परिणाम
सीबीएसई बोर्ड का परीक्षा परिणाम 15 जुलाई को जारी होगा। प्रदेश में सीबीएसई स्कूल संचालकों की मानें तो इसका ऑफिशियल लेटर जल्द मेल में आ जाएगा। बोर्ड की वेबसाइट में भी परिणाम के संबंध में सर्कुलर जारी होगा। छात्र बोर्ड की वेबसाइट में अपना रोल नंबर लिखकर परिणाम देख सकेंगे।

ऑप्शन हैं हमारे पास
सीबीएसई का नया ग्रेडिंग सिस्टम वर्तमान की स्थिति को देखते हुए अच्छा है। नंबरों का औसत बढ़ाने के लिए दोबारा इम्तिहान भी हम दे सकेंगे।
अनीश अग्रवाल, स्टूडेंट
स्कोरिंग के लिए दूंगा परीक्षा
नया ग्रेडिंग सिस्टम अच्छा है, लेकिन जिस सब्जेक्ट का इम्तिहान शेष है, उसमें मैं अच्छा स्कोर कर सकता हूं। इसे देखते हुए मैं जब भी मौका मिलेगा, परीक्षा दूंगा।
नमन कोटक, स्टूडेट

अच्छी पहल है
&सीबीएसई की यह पहल बेहद अच्छी है। इससे छात्रों को फायदा होगा। सीबीएसई बोर्ड के इस निर्णय को छात्रों को पॉजिटिव लेना चाहिए। कोविड जैसी स्थिति में इससे अच्छा उपाय नहीं हो सकता है। सीबीएसई ने कोर्ट में स्पष्ट किया, जिसके बाद कोर्ट ने निर्णय लिया है। यह सर्वमान्य होना चाहिए।
रघुनाथ मुखर्जी, प्राचार्य, डीपीएस
टॉपर्स को नुकसान
&सीबीएसई के नए ग्रेडिंग सिस्टम से पढऩे वाले विद्यार्थी नाखुश हैं। ये सर्कुलर कमजोर छात्रों के लिए बेहद अच्छा है। नए सिस्टम से टॉपर्स को नुकसान होगा।
आशुतोष सिंह, डायरेक्टर, होली हाट्र्स स्कूल

Devendra sahu Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned