CG Budget 2018: शिक्षाकर्मियों को नहीं मिली राहत, CM ने बजट में संविलियन को लेकर कही ये बात

CM छत्तीसगढ़ के वित्तीय वर्ष 2018-2019 के लिए बजट पेश कर रहे हैं। बजट भाषण के दौरान सीएम रमन सिंह ने शिक्षाकर्मियों को कोई राहत नहीं दी है।

By: Ashish Gupta

Updated: 10 Feb 2018, 12:41 PM IST

रायपुर . मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह छत्तीसगढ़ के वित्तीय वर्ष 2018-2019 के लिए बजट पेश कर रहे हैं। बजट भाषण के दौरान सीएम रमन सिंह ने शिक्षाकर्मियों को कोई राहत नहीं दी है। सीएम ने कहा कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हाई पावर कमेटी गठित की गई है। हाई पावर कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर सभी विकल्पों पर विचार करने के बाद सरकार उनके पक्ष में घोषणा करेगी।

माना जा रहा था कि सीएम इस बजट में शिक्षाकर्मियों के लिए बड़ी राहत देंगे, लेकिन उन्हें मायूसी ही हाथ लगी। बतादें कि शिक्षाकर्मी संविलियन की मांग को लेकर लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं। शिक्षाकर्मियों की मांगों को देखते हुए सरकार ने हाई पावर कमेटी गठित की थी।

ये हैं पेंच
मध्यप्रदेश में शिक्षाकर्मियों के संविलियन की घोषणा के बाद छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा विभाग के अफसरों की नींद उड़ी हुई है। दरअसल, खर्च का अनुमान लगा लिया गया है। अब फैसला सरकार को लेना है, लेकिन इस फैसले के बाद नियम-कायदे बनाने को लेकर अफसरों के पसीने छूट रहे हैं।

फिलहाल सबसे बड़ी परेशानी वरिष्ठता को लेकर सामने आ रही है। अफसरों को इस बात की आशंका है कि संविलियन के बाद वरिष्ठता को लेकर शिक्षाकर्मियों और शिक्षकों के बीच टकराव हो सकता है। ऐसे में अफसरों वरिष्ठता के नियमों को खंगालने में लगे हैं।

अफसरों की माने तो बहुत से शिक्षाकर्मी 1998 से नियुक्ति है। यदि उन्हें नियुक्ति समय से वरिष्ठता दी जाती है, तो उनके पद से ऊंचे होने के बाद भी प्रधानपाठक और प्राचार्य उनसे जूनियर हो जाएंगे। ऐसे में आपसी समन्वय बैठाना मुश्किल हो जाएगा। सूत्रों की माने तो सामान्य प्रशासन विभाग के नियम के अनुसार जिस समय संविलियन होगा, उसी समय से उन्हें विभाग में पदस्थ माना जाएगा। इस स्थिति में भी सरकार को शिक्षाकर्मियों की नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है।

अलग कैडर बनाने के विकल्प पर भी विचार

विभाग के अधिकारी संविलियन के बाद शिक्षाकर्मियों के लिए अलग कैडर बनाने पर विचार किया जा रहा है। हालांकि इसके लिए भी पूरी एक लंबी प्रक्रिया बनानी होगी।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned