2 वर्ष पूरे होने पर मंत्री चौबे ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां, बोले - छत्तीसगढ़ की अस्मिता की पहचान पहली उपलब्धि

- मंत्री रविन्द्र चौबे ने गिनवाईं भूपेश सरकार की दो साल की उपलब्धियां
- आम जनता का भरोसा हासिल करने में सीएम भूपेश बघेल रहे सफल

By: Ashish Gupta

Published: 15 Dec 2020, 06:02 PM IST

Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

रायपुर. छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार (Bhupesh Baghel Government) के 2 वर्ष पूरे होने पर मंत्री रविन्द्र चौबे ने आज प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनवाईं। मंत्री रविन्द्र चौबे ने मीडिया से बातचीत में बताया कि लोगों को सरकार से उम्मीदें होती हैं, लोकतंत्र में जनमत इसीलिए अपनी सरकार चुनने का काम करती हैं। अब छत्तीसगढ़ में एक नया नारा बन गया है, 'भूपेश है तो भरोसा है'। मंत्री चौबे ने कहा, आम जनता का भरोसा हासिल करने में सीएम भूपेश बघेल और पूरी प्रदेश सरकार ने सफलता अर्जित की है।

प्रदेश में कई स्थानों पर हुई बूंदाबांदी, अगले 24 घंटे जाने कैसा रहेगा मौसम

ये दो साल से चर्चा हो रही है कि बात है अभिमान की छत्तीसगढ़िया स्वाभिमान की। आपको महसूस होगा छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद प्रदेश के मूल लोगों को यह एहसास कराने में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सफल हुए हैं कि छत्तीसगढ़ उनका अपना राज्य है। इस सरकार के बनने के पहले हमने नारा दिया था कि छत्तीसगढ़ को शोषण और भ्रष्टाचार का राज्य बना दिया गया था।

बाबुल से दहेज में पौधे लेकर विदा हुई दुल्हन, दूल्हे से लिया जिंदगी भर इन पौधों की रक्षा करने का वचन

छत्तीसगढ़ लोहा समेत अन्य मिनरल्स को बेचने का बाजार बना हुआ था, लेकिन तीन चुनाव पहले तत्कालीन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने प्राकृतिक संशाधनों से संवृद्ध छत्तीसगढ़ को फिर सजाने सवांरने का जो वादा किया था, यह सरकार उसे दो साल के कार्यकाल में ही पूरा करने में सफल रही है। मंत्री चौबे ने कहा, छत्तीसगढ़ की अस्मिता की पहचान प्रदेश सरकार की सबसे पहली उपलब्धि है। यहां के तीज त्योहारों को लोग भूलते जा रहे थे। यहां के त्योहारों पर प्रदेश सरकार ने छुट्टी घोषित की।

खरमास माह में नहीं होंगे शुभ और वैवाहिक कार्य, फ‍िर जानिए कब से शुरू होंगे मंगलकार्य

मंत्री चौबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ी सांस्कृतिक धरोहरों की पहचान लगभग खत्म होती जा रही थी। उसको कायम करने में प्रदेश सरकार काफी हद तक सफल रही। गढ़कलेवा के रूप में छत्तीसगढ़ के खानपान को समुचित प्रदेश में प्रचारित और संस्थापित करने का काम भी इस सरकार ने किया है। छत्तीसगढ़ के आम नागरिकों को ये लगने लगा है कि यह प्रदेश उनके लिए बनाया गया है। छत्तीसगढ़ में खोती जा रही उनकी अस्मिता को पहचान दिया गया है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned