11 केंद्रों में अब तक 2 लाख 7 हजार क्विंटल हुई धान खरीदी

परिवहन का काम फिलहाल धीमा, सोसाइयियों में धान जाम की स्थिति

भाटापारा। धान खरीदी केंद्रों में धान खरीदी का काम काफी तेज हो गया है। इसके साथ ही परिवहन के काम में भी थोड़ी तेजी आ गई है। अब तक जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा भाटापारा के अधीन आने वाली 11 धान खरीदी केंद्रों में खरीदी का अनुमानित लक्ष्य का 50 प्रतिशत लगभग पूरा हो गया है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा भाटापारा के अंतर्गत लगभग चार लाख हजार क्विंंटल से भी अधिक धान खरीदी का लक्ष्य अनुमानित रखा गया है, जो कि अभी तक के 2 लाख क्विंटल से भी अधिक की धान खरीदी हो चुकी है । अनुमान है कि 15 फरवरी तक की खरीदी का जो अनुमानित लक्ष्य रखा गया है वह संभवत पूरा हो जाएगा। बदली छटने और पानी बंद होने के बाद लगातार धान खरीदी के काम में तेजी आ गई है। वही परिवहन के काम में भी कुछ तेजी दिखाई दे रही है फिर भी जैसा परिवहन होना चाहिए अभी वैसा नहीं हो पा रहा है। इसलिए सोसायटिओं और धान खरीदी केंद्रों में बड़ी मात्रा में धान का स्टॉक रखा हुआ है।
बॉक्स
चार बार में बेच सकेंगे किसान अपना धान
आप किसान अपना धान चार बार में धान खरीदी केंद्रों को बेच सकेंगे। इस आशय का आदेश राज्य सरकार की ओर से निकल गया। पहले तीन बार ही टोकन देने का प्रावधान था, जिसे सरकार ने 4 बार कर दिया है। सरकार के इस आदेश के बाद किसानों में थोड़ा हर्ष देखा गया है। किसान नेता रमेश यदु ने कहा कि सरकार द्वारा किसानों को जो सुविधा मुहैया कराई जा रही है वह अभी ठीक है। कई बार ऐसा होता है कि सरकार के आदेश का गलत फायदा अधिकारी उठा लेते हैं और सरकार बेवजह बदनाम होती है। हमें उम्मीद है कि सरकार किसानों का पूरा ध्यान खरीदेगी और खरीदी के अपने लक्ष्य को भी प्राप्त करेगी।
बॉक्स
परिवहन में आई तेजी
बीच में धान परिवहन के काम में बहुत ज्यादा ढिलाई बरती जा रही थी, किंतु पिछले कुछ दिनों से धान परिवहन के काम में तेजी आ गई है। जिससे धान खरीदी केंद्रों में स्टाफ में कुछ कमी आई है। धान परिवहन के काम में और तेजी आने की आवश्यकता है ताकि खरीदी केंद्रों में धान खरीदी के लिए स्थान बना रहे।
बॉक्स
इतनी खरीदी हुई और इतना हुआ परिवहन
भाटापारा क्षेत्र के 11 धान खरीदी केंद्रों में अब तक कुल दो लाख 7हजार क्विंटल से भी अधिक धान की खरीदी हो चुकी है जिसमें से 58970 क्विंंटल धान का परिवहन ही हो पाया है अभी भी धान खरीदी केंद्रों में 1 लाख 48 हजार 784 क्विंटल धान पड़ा हुआ है इसका भी परिवहन आवश्यक है।

Gulal Verma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned