शासकीय अंग्रेजी मीडियम के विद्यार्थियों को पढ़ाने अब शिक्षकों की भी निकलेगी लॉटरी

आवेदन ज्यादा, पोस्ट कम इसलिए अधिकारियों ने किया तय

By: Gulal Verma

Published: 20 Jul 2020, 05:57 PM IST

रायपुर। शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल में पढऩे वाले विद्यार्थियों को उत्कृष्ट शिक्षा मिले, इसलिए शिक्षकों का चयन समिति के सदस्य लॉटरी से करेंगे। एक ही पोस्ट में कई आवदेन आने से स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने यह निर्णय लिया है। स्कूल शिक्षा विभाग ने समिति के अध्यक्ष (कलेक्टर) को पूरे मामले की रिपोर्ट बनाकर भेज दी है। समिति अध्यक्ष की इजाजत मिलने के बाद शिक्षकों की लॉटरी निकाली जाएगी। लॉटरी निकलने के बाद जो पद रिक्त रह जाएंगे, उनके के लिए संविदा नियुक्ति स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा निकाली जाएगी। हर स्कूल के लिए बार-बार मीटिंग समिति के सदस्य नहीं करेंगे। एक ही बार समिति के सदस्यों की मीटिंग होगी, और सब स्कूलों के लिए आदेश जारी होगा।

एक-एक विषय के लिए ५ शिक्षकों के आवेदन

स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मानें तो कुछ विषयों में एक साथ बड़ी संख्या मंे आवेदन आए है। इन आवेदनों की जांच के बाद शार्ट लिस्ट में शिक्षकों की संख्या बढ़ गई, इसलिए लॉटरी सिस्टम का प्रपोजल विभागीय अधिकारियों ने दिया है। जिन विषयों में शिक्षकों के
अधिक आवेदन आए उन विषयों का नाम विभागीय अधिकारियों द्वारा ङ्क्षहदी, विज्ञान, गणित बताया जा रहा है।

तीन स्कूलों का चयन

राजधानी के शहीद स्मारक स्कूल, बीपी पुजारी स्कूल और आरडी तिवारी स्कूल को शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल बनाने के लिए चयन किया गया है। इन स्कूलों में क्रमश: १ हजार २३ आवेदन, ५९७ और ५४८ आवेदन आए है। इन स्कूलों में आवेदन देने वाले विद्यार्थी अब तक मेरिट लिस्ट का इंतजार कर रहे हंै, लेकिन नियमों के फेर के चलते अब तक मेरिट लिस्ट अटकी हुई है। समिति के सदस्य अध्यक्ष के निर्देश का इंतजार कर रहे हैं और इस वजह से जिले में अब तक स्कूलों का संचालन नहीं हो पाया है।

शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल में एक ही विषय को पढ़ाने के लिए कई शिक्षकों का आवदेन आया है। शिक्षकों को सिलेक्ट करने के लिए लॉटरी सिस्टम अपनाया जाएगा। समिति के अध्यक्ष को प्रपोजल बनाकर भेजा है।
- जीआर चंद्राकर, जिला शिक्षा अधिकारी, रायपुर

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned