जेल दाखिला के पहले कैदियों का होगा कोरोना टेस्ट

लगातार बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए जेल मुख्यालय ने दिए निर्देश

By: Gulal Verma

Published: 31 Jul 2020, 11:30 PM IST

रायपुर। जेल दाखिल करने से पहले कैदियों का अनिवार्य रूप से कोरोना टेस्ट करवाया जाएगा। जांच की रिपोर्ट मिलने के बाद ही इन्हें अन्य कैदियोंं के साथ बैरकों में रखा जाएगा। लगातार बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए सभी जेल प्रभारियों को सख्ती से इसका पालन करने कहा गया है। मध्यप्रदेश की तर्ज पर छत्तीसगढ़ जेल प्रशासन भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने में जुटा हुआ है। बताया जाता है कि जेलों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए थर्मल स्केनिंग, मास्क, दस्ताना और सेनिटाइजर लगाने के बाद ही प्रहरियों को भीतर प्रवेश दिया जा रहा था। वहीं, कोर्ट के निर्देश पर भेजे गए कैदियों को १४ दिन के लिए अलग कक्ष में रखा जा रहा था। सुरक्षा के तमाम उपाए करने के बाद भी बिलासपुर, रायपुर और कोरिया स्थित जेल में संक्रमण फैलने से विभागीय अधिकारियों में हड़कंप मच गया था। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कैदियों और प्रहरियों के स्वास्थ्य की जांच कराई जा रही है। साथ ही अब नए आने वाले कैदियों की कोरोना जांच अनिवार्य रूप से कराने कहा गया है।

वापसी में होगी जांच
अंतरिम जमानत और पैरोल की अवधि समाप्त होने के बाद वापस लौटने वाले सभी कैदियों की जांच कराई जाएगी। इसके लिए स्थानीय जेल प्रशासन द्वारा व्यवस्था की जाएगी। वहीं, रिपोर्ट मिलने तक सभी को अलग बैरकों में रखा जाएगा। बता दें कि अप्रैल से जुलाई के बीच प्रदेश के सभी ३३ केंद्रीय, जिला और उपजेल में करीब १८००० बंदी और कैदी हैं। इसमें से करीब २७०० कैदियों को हाईकोर्ट के निर्देश पर अस्थायी रूप से घर भेजा गया है। साथ ही इन्हें अपने घरों में रहने और निर्धारित अवधि के बाद संबंधित जेल में उपस्थिति दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं, जरा सी लापरवाही बरतने पर ये कैदी संक्रमित हो सकते हैं।

विशेष व्यवस्था
कैदियों के स्वास्थ्य की जांच करने के लिए जेल अस्पतालों में विशेष व्यवस्था की गई है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग अंबिकापुर और जगदलपुर केंद्रीय कारागार के स्टॉफ को अलर्ट रहने कहा गया है। बताया जाता है कि जेल के डॉक्टरों को कैदियों के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखने कहा गया है। उनमें किसी भी तरह का संक्रमण दिखाई देने पर तुरंत अस्पताल भेजने के निर्देश दिए गए हैं।

कोरोना टेस्ट होगा
कोरोना संक्रमण को देखते हुए जेल दाखिल करने से पहले अनिवार्य रूप से कैदियों का टेस्ट करवाया जाएगा। जांच रिपोर्ट मिलने तक वे अलग कक्ष में रखे जाएंगे। लगातार फैल रहे वायरस को देखते हुए सभी जेल प्रभारियों को इसके निर्देश दिए गए हैं।

- के. के. गुप्ता, जेल डीआईजी

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned