शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूलों की वर्चुंअल क्लास अब तक नहीं हुई शुरू

कोरोनाकाल की आड़ में खुद की गलतियां छिपा रहे जिम्मेदार

By: Gulal Verma

Published: 15 Sep 2020, 08:20 PM IST

रायपुर। निम्न और मध्यम वर्गीय परिवार के बच्चे अंग्रेजी मीडियम स्कूल में पढ़ सके, इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश में ४० शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल खोलने का निर्देश मई मंे स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दिया था। राजधानी समेत प्रदेशभर में शिक्षा सत्र २०२०-२१ के जुलाई माह से इन स्कूलों में वर्चुअल क्लास लगाने का निर्देश प्रदेश के सभी कलेक्टरों और जिला शिक्षा अधिकारियों को स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव ने दिया था। इसके बाद भी राजधानी के शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल में अब तक वुर्चअल क्लास शुरू नहीं हो पाई है। शिक्षा विभाग के जिम्मेदारों का कहना है कि स्कूल संचालन समिति की बैठक नहीं होने से मामला अटका हुआ है। क्योंकि, बैठक में शिक्षकों की रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पर चर्चा होगी। इसके बाद विभाग के पास मौजूद संसाधनों से विद्यार्थियों को वर्चुअल क्लास में पढ़ाना शुरू कर दिया जाएगा।

सिलेबस भी तय नहीं
शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल के पहले बैच के विद्यार्थियों को क्या पढ़ाया जाएगा, समिति यह भी तय नहीं कर पाई है। कोर्स और सिलेबस के विषय में समिति के जिम्मेदारों ने शिक्षाविदों से चर्चा नहीं की है। सीबीएसई पैटर्न का सिलेबस होगा या शिक्षाविदों से नया सिलेबस तैयार करवाएंगे, इन सवालों का जवाब भी जिम्मेदारों के पास नहीं है। समिति के अधिकारी मामले में वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा करने की बात कहते हुए कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

संविदा शिक्षकों की नियुक्ति कब

स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जिले में संचालित होने वाले शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूलों के लिए ७० रिक्त पदों की भर्ती निकाली है। इन रिक्त पदों के लिए बड़ी संख्या में आवेदन भी आए हैं। विभागीय अधिकारियों ने समिति के जिम्मेदारों को पात्र आवेदनकर्ताओं की लिस्ट दे दी है, लेकिन इंटरव्यू की तारीख अब तक तय नहीं हुई है।

संविदा पदों की भर्ती के लिए आए आवेदनों की छटनी करके समिति को पेश कर दिया गया है। प्रक्रिया प्रोसेस में है। विभाग से मिले शिक्षकों को विद्यार्थियों की वर्चुअल क्लास लगाने का निर्देश दिया गया है। अभी शुरुआत में शिक्षा विभाग द्वारा मिले सिलेबस को पढ़ाया जाएगा। जल्द ही सभी शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूलों में पढ़ाई सुचारू रूप से शुरू हो सकेगी।
- जीआर चंद्राकर, जिला शिक्षा अधिकारी, रायपुर

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned