राज्य शासन के कड़े नियमों के बीच शनिवार से क्वांर नवरात्रि प्रारंभ

जसगीत, भंडारा, कन्या भोज नहीं होगा

By: Gulal Verma

Published: 16 Oct 2020, 04:19 PM IST

बलौदा बाजार। शनिवार से इस वर्ष क्वांर नवरात्रि प्रारंभ हो रही है। कोरोना संक्रमण का असर इस वर्ष क्वांर नवरात्रि में भी पूरी तरह से नजर आ रहा है। जिला प्रशासन द्वारा बीते दिनों विस्तृत रूप से नवरात्रि के संबंध में नए निर्देश जारी किए गए हैं। जिसके अनुसार माता की स्थापना से लेकर विसर्जन तक कड़े निर्देश बनाए गए हैं। निर्देशों के अनुसार इस वर्ष बगैर मास्क के माता के दर्शन नहीं किए जा सकेंगे। वहीं, नवरात्रि में दुर्गा पंडालों में बीते वर्षों तक होने वाले कन्या भोज, जगराता, जसगीत, भंडारा का आयोजन नहीं होगा। साथ ही दर्शन करने वालों को किसी भी प्रकार के प्रसाद भी प्रदान नहीं किए जाएंगे। प्रशासन के नए नियम के बाद नवरात्रि को लेकर मंदिर समितियों सामान्य तरीके से नवरात्रि मनाए जाने की तैयारी की जा रही है।
ये हैं प्रमुख दिशा-निर्देश
मूर्ति की ऊंचाई व चौड़ाई 6 फीट से अधिक नहीं होनी चाहिए। मूर्ति स्थापना वाले पंडाल का आकार 15-15 फीट से अधिक न हो। पंडाल के सामने कम से कम 3 हजार वर्ग फीट की खुली जगह हो। किसी भी एक समय में मंडप व सामने मिलाकर 20 व्यक्ति से अधिक नहीं होना चाहिए। मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति एक रजिस्टर संधारित करेगी, जिसमें दर्शन के लिए आने वाले सभी व्यक्तियों का नाम, पता मोबाइल नंबर दर्ज किया जाएगा, ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने पर कांटेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके।
कंटेनमेंट जोन होने पर पूजा तत्काल समाप्त होगी
मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति 4 सीसीटीवी लगाएगा ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति कोराना संक्रमित होने पर कांटेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके। यदि कोई व्यक्ति जो मूर्ति स्थापना स्थल पर जाने के कारण संक्रमत हो जाता है तो इलाज का संपूर्ण खर्च मूर्ति स्थापना करने वाला व्यक्ति अथवा समिति द्वारा किया जाएगा। कंटेनमेंट जोन में मूर्ति स्थापना की अनुमति नहीं होगी। यदि पूजा की अवधि के दौरान भी उपरोक्त क्षेत्र कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित हो जाता है तो तत्काल पूजा समाप्त करनी होगी।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned