राजस्व विभाग में कार्यरत लिपिक ने की आत्महत्या

सुसाइट नोट में मानसिक प्रताड़ता का लगाया आरोप

By: Gulal Verma

Updated: 16 Oct 2020, 04:37 PM IST

गरियाबंद। देवभोग तहसील में सहायक लिपिक ग्रेड 3 के पद पर पदस्थ शुभम पात्र (25) ने गुरुवार को अपने किराए के मकान में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आज जब वह अपने मकान से 11 बजे तक बाहर नहीं निकला तो परिजनों ने पुलिस व तहसील को सूचना दी। नायब तहसीलदार की उपस्थिति में दरवाजे का ताला तोड़ा गया। शव पंखे पर लटका मिला। पास के बिस्तर में सुसाइड नोट भी पड़ा हुआ था। जिसमें उसने तहसील में पदस्थ जिम्मेदारों पर प्रताडऩा का आरोप लगाया है। इस मामले में गरियाबंद नपा अध्यक्ष ने उचित कार्रवाई की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा है।
गरियाबंद नगरपालिका अध्यक्ष गफ्फु मेमन, उपाध्यक्ष सुरेन्द सोनटके और सभापति आसिफ मेमन, विष्णु मरकाम, वंश गोपाल सिन्हा, नीतू देवदास, पदमा यादव, गुलेश्वरी ठाकुर, प्रहलाद सिंह ठाकुर, सांसद प्रतिनिधि नगरपालिका परिषद गरियाबंद ने आरोपित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते कहा कि आज अधिकांश कर्मचारी दबाव में कार्य कर रहे हैं वेमानसिक रूप से पीडि़त हंै। जिसके चलते वे अपने प्रशासनिक कार्यों को भी उचित ढंग से निर्वाह नहीं कर पा रहे हंै।

लिपिक संघ ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन
दिवंगत लिपिक शुभम पात्र को न्याय दिलाने लिपिक संघ ने कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपकर जिम्मेदारों को तत्काल निलंबित करने की मांग की है। साथ ही कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी है। दिवंगत कर्मचारी द्वारा आत्महत्या के पूर्व लिखित पत्र में तहसीलदार द्वारा अत्यधिक कार्य देकर व अवकाश आवेदन देने के बाद भी अवैतनिक करने तथा बार-बार कारण बताओ नोटिस देने से परेशान होकर आत्महत्या किए जाने का उल्लेख किया गया है। ज्ञापन सौंपने वालों में पन्नालाल देवांशी जिलाध्यक्ष प्रदेश लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ, लखन लाल साहू जिलाध्यक्ष तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ्,ा गोपाल गिरी गोस्वामी संविदा कर्मचारी संघ, बसंत त्रिवेदी बसंत मिश्रा, देवेंद्र वर्मा, लक्ष्मी यादव, सुनील यादव, भागवत साहू, दीपयंती तिवारी, सुष्मिता उपाध्याय, भागवत ध्रुव, युवराज कटारे, रेन सिंह ध्रुव, गुलशन साहू, देवेश शर्मा, राकेश शर्मा आदि शामिल थे।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned