93 वर्षीय बुजुर्ग ने दी कोरोना को मात, स्वस्थ होकर लौटे घर

62 वर्षीय बेटा भी हुए स्वस्थ

By: Gulal Verma

Published: 20 Oct 2020, 04:12 PM IST

गरियाबंद। जिले में अब तक कोविड-19 के कुल 2316 धनात्मक प्रकरण पाए गए हैं। जिनमें से 24 की मृत्यु व 1896 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। जिले के डेडीकेटेड कोविड अस्पताल से 353 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए हैं। जिले के फिंगेश्वर विकासखण्ड के 93 वर्षीय जनक साहू और उनके 62 वर्षीय बेटे सुबेलाल साहू 5 अक्टूबर को कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे। जिन्हें तत्काल जिले के डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में भर्ती कर 13 दिवस तक उपचार उपलब्ध कराया गया। वर्तमान में जनक साहू व सुबेलाल साहू दोनों स्वस्थ्य होकर घर चले गए हैं।
डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में प्रभारी अधिकारी डॉ. जय पटेल, डॉ. नेमेश साहू व समस्त चिकित्सकीय टीम द्वारा बेहतर उपचार व प्रबंधन किया गया व सफाई कर्मियों का भी विशेष योगदान रहा। साहू ने अस्पताल की व्यवस्था और उपचार की सरहाना की है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एनआर नवरत्न ने इस संबंध में आम जनता से अपील है कि कोविड-19 के किसी भी प्रकार के लक्षण आने पर तत्काल जांच करा कर उपचार प्राप्त करें। जिससे कोविड के समुदाय में संक्रमण को रोका जा सके। साथ ही कोविड-19 की गंभीर अवस्था व मृत्यु में कमी लाया जा सके।

कोविड के 88 नए रोगी, 78 हुए स्वस्थ
बलौदा बाजार। जिले में कोविड के 88 नए रोगी मिले हैं। वहीं, 78 मरीज़ों को इलाज़ में स्वस्थ होने पर छुट्टी दे दी गई है। दो लोगों की मौत भी सोमवार को रिकार्ड हुआ है। मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी ने आज यहां बताया कि जिले में आज 729 लोगों का कोरोना टेस्ट के लिए नमूना लिया गया। पूर्व में भेजे गए नमूने और आज के एंटीजन टेस्ट को मिलाकर 88 नए कोरोना मरीज़ सामने आए हैं।
उन्होंने विकासखण्ड वार बताया कि बलौदाबाजार में 10, भाटापारा में 23, बिलाईगढ़ में 16, कसडोल से 8, पलारी से 6 और सिमगा से 25 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव मिला है। कोविड के दो पॉजिटिव मरीज़ों की मौत हो गई है। दोनों पुरुष हैं। एक की उम्र 50 और दूसरे की 54 है। इसमें से एक भाटापारा और दूसरा बलौदाबाजार विकासखण्ड का है। कोविड से मरने वालों की संख्या जिले में अब 69 तक पहुंच गई है। डॉ. सोनवानी ने बताया कि जिले में अब तक 4869 मरीज़ कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इनमें से 3973 का इलाज़ हो चुका है। अब सक्रिय मरीज़ों की संख्या केवल 827 रह गई है। जिनका इलाज़ जारी है।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned