धनतेरह में खूब हुई धन वर्षा, व्यापारियों के चेहरे खिले

सराफा दुकानों में उमड़ी ग्राहकों की भीड़

By: Gulal Verma

Published: 13 Nov 2020, 04:51 PM IST

बलौदा बाजार। गुरुवार को बलौदा बाजार में धनतेरस का बाजार व्यापारियों के मनमाफिक रहा। सुबह से लेकर देर शाम तक पूरे बाजार में मंगल ही मंगल छाया रहा। बाजार में पैर रखने की भी जगह नहीं बची थी। धनतेरस के बाजार में धन की जमकर वर्षा हुई , जिससे व्यापारी बेहद प्रसन्न रहे। सराफा दुकानों में सर्वाधिक भीड़ रही।
सोने, चांदी की खूब बिक्री हुई। साथ ही कांसा, पीतल के बर्तन, कपड़ा, आटोमोबाइल सेक्टर तथा इलेक्ट्रानिक्स का भी बोलबाला रहा।
विदित हो कि कोरोना संक्रमणकाल से बीते मार्च से व्यापार जगत में नरमी की वजह से व्यापारियों में काफी निराशा व्याप्त थी। ग्रीष्मकाल का वैवाहिक सीजन के साथ ही तीजा-पोला का सीजन भी औसतन कमजोर ही रहा है। परंतु, धनतेरस- दीपावली के बाजार ने व्यापारियों को बड़ी राहत दी है। बीते कुछ दिनों से बाजार के तेज से व्यापारियों में काफी उत्साह है।
निजी तथा शासकीय सेक्टर में कार्यरत कर्मचारियों का वेतन, किसानों को बीते साल के धान के बोनस की किस्त तथा केन्द्रीय कर्मचारियों को बोनस मिलने से नौकरीपेशा ग्राहकों सहित नगर तथा आसपास के ग्रामीण इलाकों के ग्राहकों ने बाजार में जमकर खरीदी की। धनतेरस के लिए बुधवार से ही व्यापारियों ने अपनी अपनी दुकानों को कलर लाइट तथा फूलों सजाकर तैयार रखा था। गुरुवार सुबह से ही दुकानों में ग्राहकों की भीड़ रही। दोपहर होते-होते एमजी रोड, मंडी रोड, सदर बाजार, पुराना नगर पालिका रोड समेत नगर के व्यापारिक मार्गों में पैर रखने की भी जगह नहीं बची थी।
सोने-चांदी की जमकर हुई खरीदी
सोने-चांदी की कीमतों के बीते सप्ताहभर के दौरान कम होने की वजह से ग्राहकों ने जमकर खरीदी की। ज्वेलर्स प्रवीण शुक्ला, संजू सोनी, अनिल सोनी, मुकेश सोनी आदि ने बताया कि सोने-चांदी के दामों की त्येहारी सीजन में बढऩे की संभावना थी, परंतु दाम सामान्य होने की वजह से ग्राहकों में सोने चांदी को लेकर काफी उत्साह रहा। आगामी त्योहारी तथा वैवाहिक सीजन में फिर से सोने के दाम बढऩे की आशंका के चलते लोगों ने सोने के जेवरए, सोने- चांदी के सिक्के, बिस्किट आदि की जमकर खरीदी की है।
कपड़ा दुकान में भी सुबह से भीड़
गुरुवार को धनतेरस के दिन बाजार में कपड़ा दुकानों में भी ग्राहकों की भीड़ रही। लोगों ने रेडिमेड गारमेंट्स के साथ ब्रांडेड, परंपरागत कपड़ों की जमकर खरीदी की। वस्त्र व्यापारी संदीप हबलानी, संजू हबलानी ने बताया कि धनतेरस का बाजार बढिय़ा रहा है। युवक-युवतियों द्वारा फैंसी डिजाइन को सर्वाधिक पसंद किया गया है।
एक ही दिन में बाजार में बूम रही
मान्यता अनुसार धनतेरस की पूजा कांसे के थाली में ही की जाती है, जिसकी वजह से धनतेरस के दिन बर्तनों की जमकर बिक्री हुई। ग्रामीण इलाके के लोगों द्वारा खरीदी में ठोस पीतल, कांसे के बर्तनों की खरीदी को जोर दिया गया। वहीं, शहरी इलाके के लोगों ने फैंसी तथा लाइट वेट बर्तन की खरीदी की।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned