एक ही दिन में कोरोना से तीन मरीजों की मौत

ठंड में विशेष सावधानी बरतने की विशेषज्ञों ने दी सलाह

By: Gulal Verma

Published: 24 Dec 2020, 04:40 PM IST

बलौदा बाजार। मौसम में आए बदलाव तथा इन दिनों जिले में पड़ रही भीषण ठंड की वजह से एक ओर जहां सामान्यजनों का ठंड से बुरा हाल है, वहीं दूसरी ओर जिले में कोरोना संक्रमण भी तेजी से पैर पसार रहा है। जनसंपर्क विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को जिले में कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से तीन मौतें दर्ज की गई है। जिसे मिलाकर जिले में मृतकों का आंकड़ा बढक़र 131 हो गया है। विशेषज्ञों ने भी ठंड के मौसम में अतिरिक्त सावधानी बरतने की सलाह देते हुए हाथ पैरों में दर्द, तेज बुखार तथा सर्दी होने पर बगैर डर के कोरोना टेस्ट कराए जाने की बात कही है।
विदित हो कि मौसम खुलने के साथ ही बीते तीन-चार दिनों से पूरे जिले में भीषण ठंड पड़ रही है। ठंड का यह मौसम बच्चों बुजुर्गों तथा पूर्व से बीमार लोगों के लिए बहुत कठिन साबित हो रहा है। एकाएक ठंड पड़ जाने की वजह से मौसमी सर्दी-खांसी के मरीजों की संख्या भी बढ़ गई है। जिले में यह मौसम कोरोना वायरस के लिए भी मनमाफिक साबित हो रहा है। अधिकांश लोग सर्दी खांसी तथा बुखार होने पर इसे मौसमी समस्या मानकर है ही घरेलू उपचार कर रहे हैं, जिसकी वजह से अनजाने में भी लोग कोरोना संक्रमण को बढ़ावा दे रहे हैं। जिले के जनसंपर्क विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को जिले में 58 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिसे मिलाकर जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 475 हो गई है। मंगलवार को जिले के पलारी ब्लाक के 75 वर्षीय महिला तथा 60 वर्षीय पुरुष के साथ ही साथ बलौदा बाजार ब्लाक के 75 वर्षीय पुरुष यानी कुल तीन लोगों की एक ही दिन में कोरोना संक्रमण की वजह से मृत्यु हुई है। अब तक जिले में कोरोना संक्रमण की वजह से होने वाली मृत्यु का आंकड़ा 131 हो गया है, जो गंभीर बात है।
चिकित्सकों ने तेज ठंड के मौसम में बच्चों तथा बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखने के बाद कहते हुए ठंड से बचने की बात कही है। जिला चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ. राकेश प्रेमी ने बताया कि इस मौसम में सर्दी से पूरी तरह बचना चाहिए। जब भी घर से बाहर निकले पर्याप्त गर्म कपड़े पहन कर ही निकलें। साथ ही फ्रिज के खाद्य पदार्थों के इस्तेमाल से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मौसम में सर्दी, खांसी, बुखार होने पर बगैर डरे अनिवार्य रूप से कोरोना वायरस टेस्ट कराना चाहिए, ताकि संक्रमण होने पर तत्काल इलाज प्रारंभ किया जा सके। जिससे मरीज तथा उसके परिजनों को तत्काल चिकित्सा की सुविधा मिल सके।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned