बिलाईगढ़ क्षेत्र में अवैध पत्थर उत्खनन में इजाफा

शिकायत के बाद भी विभागीय अधिकारी नहीं कर रहे कार्रवाई

By: Gulal Verma

Published: 14 Jan 2021, 04:20 PM IST

सरसींवा। बिलाईगढ़ क्षेत्र के कई ग्रामों में अवैध पत्थर उत्खनन में तेजी से इजाफा हुआ है। वहीं, शिकायत के बाद भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ग्राम पंचायत गोविंदवन, छपोरा, दुमहानी, बेलटिकरी सहित कई गांवों में अवैध पत्थर उत्खनन तेजी से किया जा रहा है। यहां लगभग 35 से 40 एकड़ शासकीय भूमि पर अवैध पत्थर उत्खनन धड़ल्ले से जारी है। जिससे शासन को लाखों रुपए राजस्व की क्षति प्रतिमाह हो रही है।
मिली जानकारी के अनुसार प्रतिदिन रातभर हाइड्रा मशीन से पत्थर उत्खनन किया जा रहा है। जिनकी तेज आवाज से आसपास के गांवों के लोगों की नींद ***** हो गई है। जिले से माइनिंग विभाग के अधिकारी कभी-कभी आते हैं और खानापूर्ति कर चले जाते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि सत्ता परिवर्त्रन के बाद भी पहले की तरह स्थिति जस की तस है।
सुबह 4 बजे से खदानों में पत्थर तुड़ाई
बताया जाता है कि क्षेत्र के पत्थर खदानों से सुबह 4 बजे से पत्थरों का परिवहन टै्रक्टर, ट्रकों से चालू हो जाता है। एक ट्रैक्टर बोल्डर पत्थर को 20 से 25 किलोमीटर की दूरी तक पहुंचाने का दाम 2500 से 3000 लिया जाता है। वहीं, एक ट्रैक्टर फर्शी पत्थर को पहुंचाने का दाम 1200 से 1500 रुपए तक पहुंचा कर बिक्री किया जाता है। खुलेआम पत्थर परिवहन होने के बाद की माइनिंग व पुलिस विभाग के जिम्मेदार पत्थर माफिया के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। जिससे क्षेत्रवासियों में भारी रोष व्याप्त है।

सिर्फ 6 जगहों पर पत्थर उत्खनन के लिए परमिशन
पूरे बिलाईगढ़ ब्लाक में सलिहा, जोगेसर, डुरूमगढ़, बिसनपुर, सोहागपुर, बेलटिकरी में पत्थर उत्खनन के लिए माइनिंग विभाग से परमिशन लिया गया है। बाकी खदानों में पत्थर खनन अवैध तरीके से चल रहा है। विगत दिनों बिलाईगढ़ एसडीएम केएल सोरी व उनकी टीम ने अवैध पत्थर उत्खनन स्थल पर दबिश दी थी, जिनमें एक हाईवा व ट्रैक्टर पर कार्रवाई की गई थी। वहीं, एसडीएम के ड्राइवर पर हमला हुआ था। इस संबंध में सोरी ने बताया था कि जैसे ही वह खदान में गाड़ी लेकर पहुंचे भूमाफिया गाड़ी छोडक़र भाग गए और वापस आने पर मेरी गाड़ी के ड्राइवर के साथ मारपीट की गई।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned