6 लाख 54 हजार रुपए ऑनलाइन ठगी करने का आरोपी गिरफ्तार

ड्राइवर निकला ठग, यूट्यूब से ठगी करने का सीखा था तरीका

By: Gulal Verma

Updated: 22 Feb 2021, 04:36 PM IST

बलौदा बाजार। सिटी कोतवाली पुलिस बलौदा बाजार को ऑनलाइन ठगी के एक बड़े मामले को सुलझाने में सफलता मिली है। बीते कुछ माह से ऑनलाइन ठगी किए जाने की कई शिकायतें जिले से प्राप्त हो रही हैं, परंतु अब पुलिस विभाग द्वारा इन मामलों पर त्वरित कार्रवाई किए जाने से आरोपियों की जल्द ही धरपकड़ भी हो रही है, जिससे लोगों में राहत है। 6 लाख 54 हजार रुपयों ऑनलाइन ठगी के मामले में आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार कर पुलिसने न्यायिक अभिरक्षा में जेल दाखिल कर दिया है। आरोपी प्रेम वर्मा ने यूट्यूब से ठगी करने का तरीका सीखा था।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 7 जनवरी 2021 को प्रार्थी रमेश मिश्रा (बलौदा बाजार) ने थाना सिटी कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि इसके एचडीएफसी बैंक के खाते से अज्ञात व्यक्ति ने छलपूर्वक 3 लाख 30 हजार रुपए का आहरण किया है। प्रार्थी के द्वारा ना तो अपना कार्ड डिटेल व किसी भी प्रकार का ओटीपी किसी के साथ साझा किया गया है। इस पर थाना सिटी कोतवाली में धारा 420 भादवि पंजीबद्ध किया गया। दौरान विवेचना पाया गया कि उपरोक्त कारणों के अलावा प्रार्थी के खाते से पूर्व में और भी आहरण किया गया है। इस तरह प्रार्थी रमेश मिश्रा के खाते से अज्ञात आरोपी के द्वारा छलपूर्वक कुल 654696 रुपए का आहरण कर ठगी किया गया है। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक बलौदा बाजारए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बलौदा बाजारए पुलिस अनुभागीय अधिकारी बलौदा बाजार के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी महेश ध्रुव के नेतृत्व में थाना सिटी कोतवाली पुलिस के द्वारा साइबर सेल बलौदा बाजार के सहयोग से मामले की गहनता से छानबीन की गई। उपरोक्त ठगी करने वाले आरोपी प्रेम वर्मा पिता दिलीप वर्मा (28) पहंदा रोड भैंसापसरा को गिरफ्तार किया गया है।
एटीएम कार्ड वाहन में छोड़ दिया था प्रार्थी ने
आरोपी प्रेम वर्मा प्रार्थी रमेश मिश्रा के यहां पिछले ढाई-तीन साल से ड्राइवरी कर रहा था। इसी दौरान प्रार्थी रमेश मिश्रा के द्वारा अपना एटीएम कार्ड गाड़ी में छोडऩे से आरोपी प्रेम वर्मा के हाथ लगा। जिसने एटीएम कार्ड की फोटो खींच कर अपने पास रख लिया गया। आरोपी प्रेम वर्मा यूट्यूब से ठगी करने का तरीका सिखा और जब रमेश मिश्रा अपना मोबाइल गाड़ी में छोडक़र गए उसी दौरान आरोपी ने उनके कार्ड की डिटेल इस्तेमाल कर ओटीपी के माध्यम से अपने फोन पर एयरटेल मनी का अकाउंट बना लिया। उसके बाद आरोपी मौका पाकर प्रार्थी के मोबाइल पर ओटीपी मंगाकर रकम निकाल लेता था और प्रार्थी के मोबाइल से ओटीपी को डिलीट कर देता था। आरोपी के पास से अपराध में प्रयुक्त एक रेडमी मोबाइल, आरोपी का एटीएम कार्ड, ठगी के रकम से खरीदे गए एक केटीएम 200 सीसी बाइक क्रमांक सीजी 04 एम एल 9263, नकदी को जब्त कर तथा ठगी की रकम को जमा किए गए खाता को फ्रिज कर लगभग 5 लाख मूल्य की संपत्ति को रिकवर किया गया है।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned