प्रशासन ने बाल विवाह को रुकवाया, परिजनों को दी समझाइश

बेटी की शादी 18 साल में कराने माता-पिता से भरवाया घोषणा पत्र

By: Gulal Verma

Published: 26 Feb 2021, 04:51 PM IST

सेल। सरकारी अधिकारियों ने आखिरकार एक मासूम बेटी को समय रहते विवाह के बंधन में बंधने से बचा लिया। मा- बाप नाबालिगलडक़ी की शादी करने के लिए जा रहे थे। ऐन मौके पर अधिकारी पहुंच गए और बाल विवाह रुकवाकर परिजनों को 18 वर्ष में शादी कराने की समझाइश दी।
जिला बाल संरक्षण इकाई बलौदाबाजार-भाटापारा व पुलिस प्रशासन के सहयोग से कसडोल विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम अमोदी में बाल विवाह को रोकने में कामयाबी पाई है। बालिका के परिजनों को बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के तहत समझाइश के साथ उनसे घोषणा पत्र भराया गया है। 18 वर्ष पूर्ण होने के बाद ही अब विवाह हो सकेंगा। कलेक्टर सुनील कुमार जैन के मार्गदर्शन व जिला कार्यक्रम अधिकारी एलआर कच्छप के नेतृत्व में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बाल विवाह पर सख्त निगरानी रखी जा रही है। इस संबंध विभाग के द्वारा जन जागरुकता भी फैलाई जा रही है।
परिजनों ने गलती स्वीकारी
जिला बाल संरक्षण इकाई बलौदाबाजार को 23 फरवरी को कसडोल विकासखण्ड के अमोदी गांव में 15 वर्षीय 9 माह की किशोरी बालिका की विवाह किए जाने की सूचना मिली। इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए जिला बाल संरक्षण इकाई, परियोजना कसडोल गिरौदपुरी चौकी की संयुक्त टीम बाल विवाह रुकवाने गांव पहुंची। टीम ने परिजनों को बाल विवाह से होने वाले शारीरिक, सामाजिक व अन्य दुष्परिणामों की जानकारी दी। इस पर परिजनों ने अपनी गलती स्वीकारते हुए बालिका के 18 वर्ष पूर्ण होने पर विवाह करने की सहमति देते हुए घोषणा पत्र भरा। अगले कार्य दिवस में वर व वधू पक्ष दोनों को बालक कल्याण समिति बलौदाबाजार में प्रस्तुत करने के लिए परिजनों को निर्देशित किया गया।

यहां पर शिकायत दर्ज कराएं
किसी भी प्रकरण में आयु संदेह होने पर उसकी जानकारी जिला बाल संरक्षण इकाई के कार्यालयीन नम्बर 07727.222253 व चाइल्ड हेल्प लाइन नम्बर 1098 में अवश्य रूप से दर्ज कराए। उक्त बाल विवाह रोकथाम कार्रवाई में परियोजना अधिकारी राजेश क्षीरसागर, सुपरवाइजर लक्ष्मी साहू, जिला बाल संरक्षण इकाई से संरक्षण अधिकारी विजय दिवाकर, नकुल कन्नौजे, विवेक आनंद, गिरौदपुरी चौकी प्रभारी मनोज सिंह कंवर, माधव प्रसाद साहू, प्रधान आरक्षक तथा दो आरक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सरपंच दीपक मांझी और पंचायत प्रतिनिधियों ने सहभागिता निभाई।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned