गरियाबंद परिक्षेत्र में हाथियों का दल फिर पहुंचा, धान की फसल को रौंदा

भिरालाट, पंडरीपानी व आमदी के ग्रामीण दहशत में, वनविभाग की टीम रख रही नजर, गांवों में कराई गई मुनादी

By: Gulal Verma

Published: 03 Mar 2021, 04:52 PM IST

गरियाबंद। जिला मुख्यालय गरियाबंद से 14 किलोमीटर दूर वन परिक्षेत्र गरियाबंद में सोमवार को हाथियों के दल ने एक बार फिर दस्तक दिया है। इस बार हाथियों के दल में 27 से 28 हाथी हैं। इसमें तीन शावक बताए जा रहे हैं। वन विभाग का अमला लगातार हाथियों की गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। सोमवार देर रात 10 बजे के आसपास हाथियों का दल ग्राम भिरालट के समीप पहुंच गया और रबी फसल की धान की फसलों को रौंद जमकर नुकसान पहुंचाया।
मिली जानकारी के अनुसार हाथियों के दल ने ग्राम भिरालाट के किसान रामलाल चक्रधारी, ग्राम पंडरीपानी में टंकेश्वर सोम के झोपड़ी (लारी) को उखाड़ कर फेंक दिया है। ग्राम आमदी के किसान संतोष ध्रुव, ग्राम भिरालाट के किसान नंदलाल, पंचराम, हिराऊ राम, हिरबन ध्रुव के फसल को रौंद दिया है। हाथियों का दल एकाएक भीरालाट आमदी पंडरीपानी के नजदीक पहुंच जाने से ग्रामीणों में दहशत देखने को मिला। हाथी धीरे-धीरे कुर्सीपाल मोहलाई हसौदा के तरफ बढ़ रहे हैं। वन परिक्षेत्र गरियाबंद के कक्ष क्रमांक 631 में मौजूद है और वन विभाग के पूरा अमला हाथियों के हर गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं, ताकि ग्रामीणों को नुकसान ना पहुंचाएं। बाकायदा गांवों में लगातार मुनादी करवाई जा रही है। लोगों को अकेले जंगल की तरफ नहीं जाने की अपील की जा रही है। हाथी मित्र दल के सदस्य भी वन विभाग के साथ लगातार हाथियों के हर मूवमेंट पर नजर रखे हुए हैं। वन मंडल अधिकारी मयंक अग्रवाल के साथ वन परिक्षेत्र अधिकारी धवललपुर राजेंद्र प्रसाद सोरी, वन परि क्षेत्र अधिकारी नवागढ़ तुलाराम सिन्हा, वन विभाग के पूरा अमला हाथी मित्र दल प्रभावित क्षेत्रों ने लगातार गश्त कर रहे हैं। जिसमें वनरक्षक उमाशंकर, मुकेश निषाद, टेमन प्रसाद दुबे , चुम्मन बघेल, होमलाल पटेल, छबि लाल साहू, लक्ष्मण यादव, कमल राजपूत व हाथी दल के सदस्य शामिल थे।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned