लॉकडॉउन के दौरान ग्रामीणों को रोजगार मुहैया कराने में बलौदाबाजार-भाटापारा जिला पूरे राज्य में अव्वल

मनरेगा के माध्यम से 69 हजार से अधिक श्रमिकों को मिल रहा है रोजगार

By: Gulal Verma

Published: 04 May 2021, 03:56 PM IST

बलौदाबाजार। जिले में एक ओर जहां कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार ने जिलेवासियों को बेहाल कर दिया है, वहीं लॉकडॉउन के दौरान एक सुखद खबर यह है कि मनरेगा के माध्यम से ग्रामीणों को रोजगार मुहैया कराने में बलौदा बाजार-भाटापारा जिला पूरे राज्य में अव्वल रहा हैं। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के माध्यम से 69521 ग्रामीण श्रमिकों को रोजगार मिल रहा है, जिससे निश्चित ही ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिल रही है तथा लोगों को अपने परिवार के भरण पोषण के लिए बड़ा सहारा मिल रहा है।
राज्य सरकार के पंचायत व ग्रामीण विकास विभाग ने सोमवार को राज्यभर में मनरेगा से सम्बंधित मई के आंकड़े प्रकाशित किए हैं, जिसमें श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के संख्यात्मक दृष्टि से बलौदाबाजार-भाटापारा जिला राज्य में पहले स्थान पर बना हुआ है, जो निश्चित ही जिला प्रशासन की बड़ी कामयाबी है। राज्य की सूची में क्रमश: दूसरे स्थान पर रायगढ़ व तीसरे स्थान पर राजनांदगांव जिला हैं।
सहायक परियोजना अधिकारी मनरेगा के. के. साहू ने बताया कि कलेक्टर के निर्देशों का पालन करते हुए पंजीकृत श्रमिकों को मांग के आधार पर रोजगार उपलब्ध कराए जा रहे हैं, जिसकी लगातार समीक्षा जिला पंचायत सीईओ के द्वारा की जा रही है। मई के प्रथम सप्ताह में जिले में कुल 69521 श्रमिक कार्यरत हैं, जिसमें जनपद पंचायत कसडोल में 20505, बिलाईगढ़ में 18166, सिमगा में 12593, बलौदाबाजार में 6943, भाटापारा में 5926 व पलारी में 5388 श्रमिक कार्यरत हैं। निश्चित ही ग्रामीणों को उनके गांव में ही रोजगार उपलब्ध कराए जाने से उनकी आर्थिक स्थिति को और मजबूती मिलेगी। उन्होंने आगे बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते सभी कार्यस्थलों में कोविड गाइडलाइन का पालन भी सुनिश्चित किया जा रहा है, जिसकी सतत निगरानी जिला स्तर से की जा रही है। प्रमुखत: एक साथ 2.3 कार्य को प्रारम्भकर वार्डवार श्रमिकों का विभाजन एक गोदी के बीच में एक गोदी का अन्तराल, एक परिवार को एक ही जगह कार्य पर नियोजित करना, सेनिटाइजर और मास्क का उपयोग शामिल है।
बरसात में होने वाले पौधरोपण की तैयारी प्रारंभ
जिले में वर्षा काल में रोपित किए जाने वाले पौधरोपण के लिए तैयारी प्रारंभ कर दी गई है। वर्तमान में पौधरोपण के लिए गड्ढे खुदाई का कार्य आरंभ किया गया है। चयनित सभी स्थलों में 20 मई तक गड्ढा हो जाए ये सुनिश्चित करने का भी निर्देश प्रभारी जिला पंचायत सीईओ ने सभी जनपद सीईओ, मनरेगा के कर्मचारियों-तकनीकी सहायकों को दिए हैं। मनरेगा में जिले के प्रथम स्थान पर होने पर कलेक्टर ने जिला पंचायत की इस उपलब्धि पर मनरेगा में कार्यरत सभी कर्मचारियों एवं अधिकारियों को बधाई दी है। साथ ही उन्होंने कहा यह स्थान हमेशा बने रहें इसके लिए आप सभी प्रयासरत करतें रहें। साथ ही मनरेगा कार्य के दौरान कोविड गाइडलाइन का अनिवार्य रूप से पालन हो, इसका विशेष ध्यान रखें। प्रभारी जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हरिशंकर चौहान ने भी टीम को बधाई देते हुए सतर्कता पूर्वक कार्य करने की बात कही है। साथ ही उन्होंने जिले के सभी जनपद पंचायत सीईओ को निर्देश दिए हैं कि वे कार्यो का निरीक्षण सतत रूप से योजना बना कर करें। जिन ग्राम पंचायत में मजदूरीमूलक कार्य नहीं है, उन पंचायतों के लिए कार्य स्वीकृति का प्रस्ताव कार्यालय जिला पंचायत को तत्काल भेजें।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned