लॉकडाउन के दौरान लोगों की लापरवाही से बढ़ रहा है कोरोना

कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी नहीं आ रही

By: Gulal Verma

Updated: 04 May 2021, 04:16 PM IST

गरियाबंद। जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमित मरीजो के आंकड़ों को देखकर 13 अप्रैल से 5 मई तक सम्पूर्ण लाकडाउन जिला प्रशासन द्वारा किया गया है, ताकि लोग घर से बाहर न निकलें। घर में रहे, मानव दूरी बने और कोरोना संक्रमण की चेन टूटे। लेकिन इतने दिनों के लॉकडाउन के बाद भी न तो कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी आ रही है और न ही मौतों का आंकड़ा थम रहा है। इसका मुख्य कारण लोगों की लापरवाही ही स्पष्ट दिख रहा है। हालांकि पुलिस विभाग द्वारा इन बेवजह घूमने वालो के ऊपर बीच-बीच में कार्रवाई की गई है। उसका असर भी थोड़े समय के लिए रहता है।
वर्तमान में जिले में चल रहे लॉकडाउन के दौरान लोग बिंदास होकर बिना मास्क के सडक़ो पर घूमते और टोली बनाकर बैठे देखे जा सकते है। इससे बड़ी गंभीर बात ये है कि नगर में संक्रमित व्यक्ति या उनके परिवार में किसी को कोरोना संक्रमण पाए जाने के बाद भी वे तालाब में नहाते, शहर में घूमते, किसी की दुकान में बैठे और सब्जी -भाजी लेते हुए देखा जा रहा है। पूर्व में जब इस संक्रमण का भय कम था, तब देखा गया कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के घर के सामने कर्मचारी की ड्यूटी लगना, संक्रमित व्यक्ति या उसके परिवार के सदस्यों को घर से बाहर न निकलने देने से इसका दुष्प्रभाव नहीं फैल रहा था। लेकिन अब जब इस संक्रमण से लोगों की मौत भी होने लगी उस दौरान संक्रमित लोग या उसके परिवार के लोग आसानी से शहर में घूमते देखे जा रहे हैं। शायद इसी का ही परिणाम है कि लॉकडाउन के दौरान भी संक्रमितों की संख्या या मौतों का आंकड़ा कम होते नहीं दिख रहा है। इसका पूरा जवाबदार संक्रमित व्यक्ति स्वयं हैं।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned