कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर फोकस कर अधिक से अधिक हो कोरोना जांच : कलेक्टर

वैक्सीन लगाने एपीएल बीपीएल हितग्राहियों को लाना होगा राशन कार्ड

By: Gulal Verma

Published: 11 May 2021, 04:51 PM IST

गरियाबंद। कलेक्टर निलेश कुमार क्षीरसागर ने सोमवार को जिले के सभी एसडीएमए सीएमएचओ, जिला नोडल अधिकारी और सभी बीएमओ की वर्चुअल बैठक लेकर जिले में कोविड-19 नियंत्रण स्थिति की समीक्षा की। साथ ही अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने जिले में अधिकारियों द्वारा कोरोना नियंत्रण के लिए किए गए कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि स्थिति को पूरी तरह नियंत्रित करने अभी हमें और मेहनत की आवश्यकता है। कलेक्टर ने सभी एसण्डीण्एम को कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर फोकस कर अधिक से अधिक लोगों की टेस्टिंग कराने कहा।
उन्होंने कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जिले में प्रतिदिन दो से ढ़ाई हजार कोरोना टेस्टिंग होना चाहिए। धनात्मक मरीज के प्रायमरी कॉन्टेक्ट वालों का टेस्ट के साथ ही क्षेत्र के अन्य लोगों का भी कोरोना टेस्ट कराई जाए। कोरोना जांच कम होने की वजह से जिले में धनात्मक मरीजों की संख्या कम ज्यादा हो रही है। उन्होंने सभी एसडीएम को गांवों में आयोजित सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक कार्यक्रमों व गांवों में अन्य राज्य से आने वाले लोगों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने कहा कि जिले में कुछ छुट के साथ लॉकडाउन में ढील दी गई है। इस दौरान व्यवसायियों, दुकानदारों का भी कोरोना जांच और कोविड-19 के निर्देशों का कड़ाई से पालन कराई जाए। गांवों में मितानिनों और ग्राम पंचायतों को और अधिक एक्टिव किया जाए। इनके पास कोरोना की दवाइयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो, ताकि आवश्यकता पडऩे पर समय पर लोगों को दवाइयां उपलब्ध कराई जा सके। जिले में कोरोना से मृत्यु दर रोकने हरसंभव प्रयास होना चाहिए। कलेक्टर ने अवगत कराया कि कोरोना के दोरान नई-नई बाते सामने आ रही है। स्वस्थ होने पर रोगप्रतिरोधक क्षमता कम होने से माइक्रोफंगश की शिकायतों पर भी विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम कोरोना के संबंध में आवश्यक सूचना कलेक्टर, एडीएम व जिला नोडल अधिकारी को व्हाट्सऐप अथवा मोबाइल के माध्यम से दे सकते है।
कलेक्टर ने कहा कि कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग तथा होम आइसोलेशन के निगरानी के लिए जिनकी ड्यूटी लगाई गई है और वे कार्य पर नहीं आ रहे हैं, ऐसे अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध एसडीएम अनुशासनात्मक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। जिले के नगरीय व कसबायी क्षेत्रों में लॉकडाउन व निर्देशों का कड़ाई से पालन हो। दुकानें 12 बजे के बाद खुला न रहे, निर्देशो के उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्यवाही हो। जिले में 45 प्लस आयु के साथ ही 18 से 44 वर्ष आयु के लोगों का वैक्सीनेशन प्रारंभ है। साथ ही शासन द्वारा अंत्योदय, बीपीएल व एपीएल हितग्राहियों के लिए वैक्सीनेशन के लिए नियमित प्रतिशत निर्धारित किया गया है। इसके अलावा शासन द्वारा फ्रंटलाइन वर्कर्स भी तय किए गए है इनका भी वैक्सीनेशन होना है। कलेक्टर ने अधिकारियों को शासन के मार्गदर्शी निर्देशों के अधार पर सभी का वैक्सीनेशन कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एपीएल व बीपीएल हितग्राहियों को पहचान के लिए वैक्सीनेशन सेंटर में आधार कार्ड के साथ राशन कार्ड भी लाना होगा। इस अवसर पर एडीएम जेआर चौरसिया, डिप्टी कलेक्टर ऋषा ठाकुर, डीपीएम डॉ. रीना लक्ष्मी उपस्थित थी। जिले के सभी एसडीएम और बीएमओ ऑनलाइन वर्चुअल बैठक में जुड़े थे।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned