आखिर कोरोना से जंग जीत घर लौटी मीना यादव

डॉक्टरों, नर्सों व स्वास्थ्य कर्मियों के सेवाभाव से हुई अभिभूत

By: Gulal Verma

Published: 20 May 2021, 04:32 PM IST

कसडोल। कोरोना का कहर जारी है। लेकिन इसी बीच बहुत से ऐसे लोग हैंए जो सकारात्मक सोच और दवा के साथ ही कोरोना से बचाव के लिए बताए गए उपाय का पालन कर जंग जीत गए हैं। अब वह स्वस्थ हैं। बलौदाबाजार जि़ले के कसडोल विकासखंड अंतर्गत ग्राम मटिया निवासी मीना यादव जो महिला स्व सहायता समूह की सचिव हैं। उन्होंने बताया कि कुछ दिनों से मुझे हल्का बुखार के साथ सर में दर्द रहने के कारण मैंने घर वालों के सलाह पर कोरोना जांच करवाई थी रिपोर्ट पाजिटिव आया। तभी से सतर्क हो गई और बचाव के उपाय अपनाने लगे। इसके बाद थोड़ा घबराहट हुई थी, लेकिन स्वजन से लगातार हौसला मिल रहा था। घर पर भी एक सप्ताह तक आइसोलेट रहा। कोरोना से डरने की नहीं लडऩे की जरूरत है।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कसडोल के खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. सी. एस. पैकरा ने बताया कि कोरोना के शुरुआती दौर से ही लोगों की जांच में जुटे हैं। 4-5 दिन पहले उन्हें सर्दी खांसी के साथ बुखार आ रहा था, तो एंटीजन टेस्ट कराया। जिसका रिपोर्ट पाजिटिव आने पर होम आइसोलेट कर लिया। आरटीपीसीआर रिपोर्ट भी पाजिटिव आई। इसके बाद कोविड नियमों का पालन करते हुए दवा लेते रहे। किन्तु, चार-पांच दिन बीतने के बाद अचानक तेज बुखार के साथ सर में भयंकर दर्द होने से बेहोश होकर गिर जाने से तुरंत 108 द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कसडोल में भर्ती कराया गया। जहां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. सी. एस. पैकरा के निर्देशन व डॉ. ए. एस. चौहान, डॉ. रवि सेन व महिला डॉ. चंद्रकला वर्मा के कर्तव्यनिष्ठा व उनके सेवा भाव का प्रतिफल निकला कि मीना 15 दिनों में पूर्ण स्वस्थ होकर कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंची। स्वस्थ होने उपरांत मीना ने उन सभी डॉक्टरों, नर्सों एवं समस्त स्वास्थ्य कर्मियों को उनके सेवा भाव से अभिभूत होकर हार्दिक दिल से आभार प्रकट किए।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned