अनाचार के बाद सात वर्षीय बालिका की हत्या कर शव कुएं में फेंका

अपचारी बालक सहित एक अन्य आरोपी गिरफ्तार

By: Gulal Verma

Published: 28 May 2021, 04:08 PM IST

बलौदाबाजार। जिला मुख्यालय बलौदाबाजार से महज चार किमी दूर ग्राम पंचायत पौंसरी में बुधवार को सात वर्षीय बालिका का शव गांव के ही एक व्यक्ति के घरबाड़ी में स्थित कुएं में मिली। अनाचार करने के बाद बालिका की निर्मम हत्या कर शव को कुएं में फेंक दिया गया था। पुलिस ने मात्र 12 घंटे के भीतर एक अपचारी (नाबालिग) बालक समेत एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार किया है। अपचारी बालक को बाल संप्रेक्षण गृह माना भेजा गया है। अपचारी बालक व आरोपी मुकेश उर्फ जगमोहन वर्मा के खिलाफ 302, 376 (क, ख), 201, 34 भादवि, 6, 10 पाक्सो एक्ट कायम किया गया।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार 26 मई को थाना सिटी कोतवाली पुलिस को सूचना मिली कि ग्राम पौंसरी में लक्ष्मी नारायण के घरबाड़ी स्थित कुआं में किसी बच्ची की लाश तैर रही है। सूचना पर तत्काल थाना सिटी कोतवाली पुलिस ग्राम पौंसरी पहुंची। बच्ची के शव को निकालकर पहचान कराया गया तो वह गांव की ही 7 वर्षीय बालिका की थी। पूछताछ करने पर मृतका के परिजनों ने ेबताया कि 25 मई दोपहर 12 बजे के लगभग बालिका अपने घर से खेलने के लिए जा रही हूं कहकर निकली थी, जो रात तक घर वापस नहीं लौटी। तलाश करने पर वह नहीं मिली। गुरुवार को पुन: बालिका की खोजबीन की गई। दोपहर 2.30 बजे गांव के लक्ष्मी नारायण वर्मा के बाड़ी में स्थित कुआंं उसका शव तैरता मिला। सूचना पर मर्ग इंटीमेशन कायम किया गया। प्रार्थी व गवाहों का कथन लेकर शव पंचनामा किया गया। जिसमें मृतका के सिर में चोंट, पैर में रस्सी बंधा होना, मृतका का चप्पल घटना स्थल से दूरी पर फेंका मिलना पाया गया। जिससे प्रथम दृष्टया किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मृतका के पैर में रस्सी बांधकर कुंए में फेंक कर हत्या करना पाए जाने से अज्ञात आरोपी के विरुद्ध धारा 302 भादवि अपराध पंजीबद्ध किया।
मामले की गंभीरता को देखते हुए आईके एलेसेला पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देशन पर निवेदिता पाल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व सुभाष दास एसडीओपी बलौदा बाजार के मार्गदर्शन में थाना सिटी कोतवाली की कुल 4 टीम आरोपी का पता तलाश करने में जुट गयी।
प्रकरण में संदेही अपचारी बालक से पूछताछ करने पर वह गोलमोल जवाब देने लगा। किन्तु लगातार पूछताछ करने पर बताया कि बालिका अपचारी बालक के घर आई थी। जिसे बाथरूम के अंदर ले जाकर उसके साथ बलात्कार किया ।जब पीडि़ता चिल्लाने लगी तो उसके गला व मुंह को हाथ से दबा दिया, जिससे उसकी मृत्यु हो गई। उसके बाद अपचारी बालक अपने घर से रस्सी लाकर मृतका के हाथ व पैर को बांध दिया। अपचारी बालक ने मुकेश उर्फ जगमोहन वर्मा को फोन कर के बुलाया और फिर दोनों ने मिलकर पीडि़ता के शव को लक्ष्मीनारायण वर्मा के बाड़ी स्थित कुआं में फेंक दिया।
अपचारी बालक व आरोपी मुकेश उर्फ जगमोहन वर्मा के खिलाफ 302, 376 (क, ख), 201, 34 भादवि, 6, 10 पाक्सो एक्ट कामय किया गया। अपचारी बालक को बाल संप्रेक्षण गृह माना भेजा गया है।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned