डॉक्टरों की मेहनत और रवि की हिम्मत ने दी नई जिंदगी

21 दिनों के संघर्ष के बाद दी कोरोना को मात

By: Gulal Verma

Published: 28 May 2021, 04:31 PM IST

छुईहा बेलर। ग्राम बेलर निवासी युवा रवि कुमार साहू (27) कोरोना को मात देकर आज अपने घर में स्वस्थ और खुश भी है। उन्हें लग रहा है कि नई जिंदगी मिली है। कोविड-19 के के बाद एक समय ऐसी स्थिति आ गई थी कि वह 7 दिनों तक वेंटिलेटर पर थे। बचने की उम्मीद कम ही थी, लेकिन डॉक्टरों की मेहनत और रवि की हिम्मत ने फिर से आस जगाया। धीरे-धीरे उनका ऑक्सीजन लेवल बढ़ता गया और वेंटिलेटर हट गया। साथ ही तकलीफें भी कम होने लगी। रवि आज घर पर स्वस्थ है।
डेडिकेटेड कोविड अस्पताल के प्रभारी डॉ. जय कुमार पटेल (एमडी मेडिसिन) और डॉ. नेमेश् साहू (एमडी मेडिसिन) और उनकी टीम के सूझबूझ व सतत समुचित प्रयासों और रवि साहू के दृढ़ मनोबल का ही नतीजा हैं कि वे सकुशल इस लड़ाई को जीत गए। वे 7 दिनों तक वेंटिलेटर सपोर्ट में थे, बावजूद इसके वहां डॉक्टरों की टीम और समस्त स्टाफ, साथ ही साथ रवि ने भी अपना मनोबल बनाए रखा। हार नहीं मानी और इस गंभीर स्थिति से निकलते हुए। कोरोना को परास्त किया।
रवि साहू के परिवार में उनके पापा टायल साहू जो वर्तमान में बेलर पंचायत का सरपंच हैं वे भी संक्रमित हुए और कोविड केयर गरियाबंद में भर्ती हुए। वहीं, उनकी माता निर्मला साहू, प्तनी गीता साहू भी इस संक्रमण की चपेट में आ गए । ये दोनों घर में आइसोलेट होकर डॉक्टर की सलाह से स्वस्थ हो गए। रवि के पापा सरपंच टायल व माता निर्मला साहू को वैक्सीन की प्रथम डोज लग चुका था। इसलिए बहुत जल्द ठीक हो गए।
डॉक्टर व स्टाप का आभार माना
गरियाबंद के कोविड अस्पताल में डॉ. जय कुमार पटेल और डॉ. नेमेश् साहू के मार्गदर्शन में मेडिकल ऑफिसर, स्टाफ नर्स अन्य पैरामेडिकल तथा हाउस कीपिंग टीम द्वारा निरन्तर उत्कृष्ट सेवा दी गई। मुझे सफलतापूर्वक डिस्चार्ज होकर घर पहूंचाया गया। मेरे लिए यह जीवन दान के बराबर है। मंै इसके लिए कलेक्टर निलेश क्षीरसागर के मार्गदर्शन और सीएमएचओ डॉ. नवरत्न व डीपीएम डॉ. रीना लक्ष्मी की निगरानी में डेडिकेटेड कोविड अस्पताल गरियाबंद के स्टाप का आभार धन्यवाद करता हूं ।
पीएम ने की थी तारीफ
शुरू से ही अपने उत्कृष्ट कार्यो के कारण राज्य में शीर्ष स्थान पर आते रहा यह अस्पताल। हाल ही मे संपन्न प्रधानमंत्री संवाद कार्यक्रम में भी मेडिकल कालेजों को छोडक़र पूरे राज्य में एकलौता कोविड अस्पताल था, जिन्हे ंशामिल किया गया था। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तारीफ की थी।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned