कलेक्टर सहित अधिकारियों ने डीईसी और एलबेंडाजोल दवाइयों का किया सेवन

समय-सीमा की बैठक में अनुकम्पा नियुक्ति शीघ्र करने के दिए निर्देश

By: Gulal Verma

Updated: 21 Jul 2021, 10:06 PM IST

गरियाबंद। कलेक्टर निलेशकुमार क्षीरसागर ने मंगलवार को समय-सीमा की बैठक में शासन की फ्लैगशीप योजनाओं व समय-सीमा पत्रकों की समीक्षा की। कलेक्टर ने विभिन्न विभागों को कोविड-19 के दौरान मृत्यु हुए व्यक्तियों के परिवारों को अनुकम्पा नियुक्ति अतिशीघ्र देने के निर्देश दिए। राष्ट्रीय फाइलेरिया उन्नमूलन कार्यक्रम अंतर्गत मंगलवार को कलेक्टर सहित जिला पंचायत सीईओ संदीप अग्रवाल, अपर कलेक्टर जे.आर. चौरसिया, वनमण्डलाधिकारी मयंक अग्रवाल, अनुविभागीय अधिकारी गरियाबंद विश्वदीप सहित जिलाधिकारियों ने एलबेंडाजोल और डीईसी के गोलियां का सामूहिक सेवन किया।
साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर क्षीरसागर ने वन अधिकार पत्रों की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसे स्थानों पर धान फसल के बजाय पौधरोपण या अन्य दलहन-तिलहन फसलों को प्राथमिकता दी जाए। उन्होंने शासन की फ्लैगशीप योजना जैसे - हाट बाजार क्लीनिक, सुपोषण अभियान,गोधन न्याय योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही स्वास्थ्य विभाग को नियमित तौर पर स्वास्थ्य शिविर लगाकर उपचार करने कहा है। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री पौधरोपण प्रोत्साहन योजना अंतर्गत किसानों को अधिक से अधिक प्रोत्साहित करने और उसका लाभ लेने के लिए किसानों के बीच जाकर जानकारी देने कृषि विभाग को निर्देश दिए है। गोधन न्याय योजना अंतर्गत प्रत्येक गोठानों में एक सप्ताह के भीतर गौठान समिति का गठन करने कहा गया है।
उन्होंने स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में शिक्षकों की नियुक्ति को शीघ्र करने और प्रतिनियुक्ति के बाद शेष पदों के लिए प्रक्रिया प्रारंभ करने शिक्षा विभाग को निर्देश दिए हैं। कमार भुंजिया बाहुल्य गांवों में अतिथि शिक्षक के रूप में 12वीं उत्तीर्ण कमार भुंजिया बच्चों को अवसर देने के लिए प्रक्रिया प्रारंभ करने के निर्देश सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग को दिए गए हंै। कलेक्टर ने कहा कि ऐसे वनांचल और दूरस्थ क्षेत्रों में जहां शिक्षकों की कमी है, वहां अतिथि शिक्षक पदस्थ किए जाएंगे। कोविड टीकाकरण और टेस्टिंग समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने कहा कि टेस्टिंग और टीकाकरण को नियमित रूप से जारी रखें। साथ ही लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का नियमित पालन कराने कहा है।
वैक्सीनेशन के संबंध में सीएमएचओ डॉ. एन. आर. नवरत्न ने बताया कि जिले में 5000 वैक्सीन की डोज शेष है। फिंगेश्वर विकासखंड में लक्ष्य के अनुरूप 30 से 40 प्रतिशत तक की टेस्टिंग किया जा रहा है, जबकि यहां कोविड पॉजिटिव दर 4 प्रतिशत है कलेक्टर ने फिंगेश्वर विकासखंड में टेस्टिंग और टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। बैठक में सभी जिला अधिकारी मौजूद थे। विकासखंड स्तरीय अधिकारी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned