कैंसर पीडि़त बेटे के इलाज के लिए विवश मां ने लगाई मदद की गुहार

सात वर्ष का मासूम है ब्लड कैंसर के पीडि़त, इलाज के लिए लाखों रुपए की है जरूरत

By: Gulal Verma

Published: 24 Jul 2021, 08:17 AM IST

गरियाबंद। जिले के फिंगेश्वर ब्लॉक के परतेवा गांव निवासी डिगेश्वरी विश्वकर्मा के पुत्र 7 वर्षीय हिमांशु ब्लड कैंसर से पीडि़त है। इलाज के लिए रायपुर एम्स हॉस्पिटल में भर्ती हैं। आर्थिक तंगी से जूझ रही डिगेश्वरी बाई ने अपने बेटे के इलाज के लिए मदद की गुहार शासन-प्रशासन, जनप्रतिनिधियों सहित आमजनों से लगाई है।
डिगेश्वरी बाई ने बताया कि वह रोजगार साहायक है और पति डूमेश्वर विश्वकर्मा लोहार का काम करते हैं पर उनके काम से घर खर्चा ठीक से नहीं चल पाता। लिहाजा, मेरे आय से परिवार का भरण-पोषण मुश्किल से चलता है। परिवार का खर्च चलाने वाली डिगेश्वरी बाई आर्थिक तंगी से जूझने को विवश हैं। उन्होंने सरकार और समाजसेवियों से बेटे के इलाज में मदद की गुहार लगाई है। कैंसर से पीडि़त अपने इकलौते बेटे की जान बचाने के लिए उनके पास अब पैसे नहीं है। सोशल मीडिया वाट्सऐस में उनका पोस्ट वायरल हुआ। जिससे कुछ लोग मदद के लिए आगे आएं। मई माह में अचानक बेटे हिमांशु की तबीयत खराब हो गई। इसके बाद मैं उसे इलाज के लिए आयुष्मान हॉस्पिटल ले गया। वहां उन्हें ब्लड चढ़ाया गया, जिससे उनका तबीयत स्थिर हो गया था। फिर अचानक 2 महीने बाद बुखार व पेट दर्द होने लगा।उसे फिर से आयुष्मान हॉस्पिटल लाया गया। चेकअप करने के बाद डॉक्टर एम्स हॉस्पिटल ले जाने की बात कही। आनन-फानन में एम्स हॉस्पिटल ले गया, जहां डॉक्टरों ने जांच-पड़ताल के बाद बताया कि बच्चे को ब्लड कैंसर है। उसे इलाज के लिए बाहर दिल्ली, मुंबई ले जा सकते हैं या यही 3 साल का कोर्स होगा। उन्होंने नम आंखों से छोटे से छोटी राशि सहयोग करने की अपील आमजनों से की है, ताकि हिमांशु को नया जीवन मिल सके।
घर की माली हालत खराब
बेटा का इलाज नहीं हुआ तो उसे खो देंगे। मर्माहत होते हुए डिगेश्वरी बाई ने बताया कि घर की माली हालत बहुत ही खराब है। मेरे पास जो कुछ भी जमा राशि थी, वह खर्च हो चुकी है। मेरा बेटा हिमांशु के इलाज में आनेवाले खर्च में सहयोग राज्य सरकार, क्षेत्रीय सांसद व विधायक सहित अन्य गणमान्य सज्जन नहीं करेंगे तो मेरा पुत्र इलाज के अभाव में असमय काल के गाल में समा जाएगा। उन्होंने जिलेवासियों से कैंसर पीडि़त हिमांशु के इलाज में सहयोग करने के लिए अपना फोन नंबर 6260073446 दिया है।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned