scriptcg news | जिले में अनुकूल वर्षा से कृषि कार्यों में आई तेजी, धान की बोआई 92 प्रतिशत पूर्ण | Patrika News

जिले में अनुकूल वर्षा से कृषि कार्यों में आई तेजी, धान की बोआई 92 प्रतिशत पूर्ण

पर्याप्त मात्रा में है बीज व खाद का भंडारण : उपसंचालक कृषि

रायपुर

Published: July 29, 2021 03:21:10 pm

बलौदाबाजार। जिले में 1 जून से मंगलवार 28 जुलाई तक लगभग 600 मिलीमीटर वर्षा के साथ कृषि कार्य में भी तेजी आ गई है। अब तक जिलें में 92 प्रतिशत धान की बोआई पूरी कर ली गई है। इस संबध में उपसंचालक कृषि संतराम पैंकरा ने बताया कि जिले में खरीफ फसलों धान का लक्ष्य क्षेत्र 2 लाख 30 हजार 800 हेक्टेयर है। अरहर, उड़द सहित दलहनी फसलों का रकबा 7020 हेक्टेयर तथा तिलहन 159 हेक्टेयर वं अन्य फसल 3970 हेक्टेयर है। जिसके विरुद्ध धान 2 लाख 14 हजार 279 हेक्टेयर जो कि लगभग 92 प्रतिशत, अरहर, उड़द सहित दलहनी फसलों का रकबा 1827 हेक्टेयर 26 प्रतिशत तथा तिलहन 761 हेक्टेयर प्रतिशत में 48 व अन्य फसल 2 हजार 451 हेक्टेयर लगभग 61 प्रतिशत में बोआई पूरी हो चुकी है।
उन्होंने कहा कि जिला में धान रोपाई का कार्य 5546 हेक्टयर तथा बयासी 249 हेक्टेयर में पूर्ण हो चुकी है। वर्तमान स्थिति में सभी तहसीलों में पर्याप्त मात्रा वर्षा होने से कार्य जोरों पर है। इसके साथ ही विभिन्न सहकारी समितियों व निजी संस्थाओं में रासायनिक खाद भंडारण 70 हजार 258 मीट्रिक टन के विरुद्ध 59 हजार 122 मीट्रिक टन का उठाव हो चुका है। जिले में बीज का भंडारण 43 हजार 799 क्विंटल के विरुद्ध 40 हजार 480 क्विंटल का उठाव अभी तक हो चुका है तथा वर्तमान स्थिति में जिला के सहकारी व निजी संस्थानों में पर्याप्त मात्रा में बीज व खाद का भंडारण है। किसान अपने आवश्यकता अनुसार बीज व खाद का उठाव कर सकते हैं साथ ही कृषकों को सलाह दी जाती है कि जिन खेतों में अधिक मात्रा में पानी के भराव हो गया है तो जल्द से जल्द पानी निकासी की तत्काल व्यवस्था किसान कर लेवें।
शीघ्र कराएं फसल बीमा, 2 दिन शेष
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना मौसम खरीफ वर्ष 2021-22 के लिए शासन द्वारा धान सिंचित के लिए 50 हजार व धान असिंचित 38 हजार 500 बीमांकित राशि निर्धारित किया गया है। जिसके लिए कृषक को 2 प्रतिशत प्रीमियम दर भुगतान कर ऋणी कृषकों का बीमा जिस बैंक से केसीसी जारी किया जाता है से किया जाएगा व अऋणी कृषक बोआई प्रमाण पत्र के साथ किसी भी बैंक अथवा लोक सेवा केन्द्र के माध्यम से अपने अधिसूचित फसल का बीमा 31 जुलाई 2021 तक करा सकते हैं। पैंकरा ने जिले के किसानों से अनुरोध किया है कि सभी अपने धान सिंचित व धान असिंचित फसल का बीमा कराएं व वर्षा की अनिश्चिचता व अन्य प्राकृतिक आपदाओं से होने वाली हानि से हुई क्षति की भरपाई फसल बीमा से भरपाई करें। किसान अपने खेत की मेड़ पर अरहर, तिल अवश्य लगाएं जिससे उन्हें अतिरिक्त आय हो सकती है।
जिले में अनुकूल वर्षा से कृषि कार्यों में आई तेजी, धान की बोआई 92 प्रतिशत पूर्ण
जिले में अनुकूल वर्षा से कृषि कार्यों में आई तेजी, धान की बोआई 92 प्रतिशत पूर्ण

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.