जिले में दो दिनों की बारिश से संभल गई धान की फसल

सूखे खेतों में भरा पानी, किसानों की चिंता हुई कम

By: Gulal Verma

Updated: 15 Sep 2021, 04:43 PM IST

बलौदाबाजार। अकाल तथा सूखे की आशंका से चिंतित किसानों तथा क्षेत्रवासियों को पूरे जिले में दो दिनों से हो रही बारिश से राहत मिली है। सावन लगभग सूखा बीतने के बाद भादो किसानों के लिए बेहतर साबित हुआ है। तीन दिनों के ही भीतर बलौदाबाजार ब्लाक में 34 मिमी बारिश हो चुकी है। तीन दिनों की बारिश ने खेतों की कायाकल्प कर दी है। सप्ताहभर पूर्व जिन खेतों में पानी की कमी की वजह से धान की फसल सूखती नजर आ रही थी तथा खेतों में दरारें नजर आ रही थी, उन्ही खेतों में अब पर्याप्त पानी नजर आ रहा है। कृषि विभाग के अधिकारियों ने भी फिलहाल किसी भी प्रकार के नुकसान की बात ना कहते हुए कहा कि बीते दिनों हुई बरसात से धान की फसल संभल चुकी है। अभी जिले के सभी ब्लाकों में धान की फसल की स्थिति बढिय़ा है।
विदित हो कि इस वर्ष जुलाई तथा अगस्त में खरीफ धान के अनुरूप कमजोर बारिश ने किसानों के साथ ही साथ क्षेत्रवासियों को चिंतित कर दिया था। सावन तक पानी की कमी की वजह से खरीफ धान की फसल पर संकट उत्पन्न होने लगा था तथा खेतों में दरार भी नजर आने लगी थी। परंतु तीन दिनों के दौरान हुई जोरदार बारिश ने किसानों की चिंता को बहुत हद तक दूर कर दिया है।
बलौदाबाजार ब्लॉक में शनिवार से जोरदार बारिश हो रही है। ब्लॉक में शनिवार को 10 मिमी, रविवार को 4 मिमी तथा सोमवार को 20 मिमी बारिश हो गई है। वहीं ब्लॉक में मंगलवार को भी दिनभर झड़ीनुमा बारिश हो रही है। हालिया बरसात ने धान की फसल के लिए संजीवनी का काम किया है, जिससे धान की फसल संभल गई है। बारिश से एक ओर जहां किसान प्रसन्न हैं वहीं मौसम में भी आए बदलाव से तापमान कम हुआ है तथा लोगों को तेज उमस तथा गर्मी से राहत मिली है।
कृषि विभाग के उप संचालक एस. एस. पैंकरा ने बताया कि मध्यम वैरायटी के धान अभी गभौट अवस्था में है। अक्टूबर के दूसरे सप्ताह तक अरली वैरायटी जैसे 1010 के पौधों में बाली आ जाएगी। अक्टूबर अंतिम सप्ताह तक महामाया, 6444 जैसी मिडियम वैरायटी की फसल में भी बाली आ जाएगी। पैंकरा ने किसानों को सुझाव दिया कि ऐसे रासायनिक खाद जिसमें दो से अधिक पोषक तत्व हों जैसे एनपीके 12.32.16, सिंगल सुपर फास्फेट और यूरिया का अंतिम खुराक दी जाए तो इस बरसात में फसल को अधिक फायदा होगा।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned