scriptcg news | लवन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 35 दिनों में 108 प्रसूताओं का हुआ सुरक्षित प्रसव | Patrika News

लवन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 35 दिनों में 108 प्रसूताओं का हुआ सुरक्षित प्रसव

सुरक्षित डिलीवरी के लिए समय से पहले आएं अस्पताल : डॉ. प्रेमी

रायपुर

Published: December 07, 2021 04:47:12 pm

कोरदा (लवन) । सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र लवन में प्रसव कराने वालों की संख्या बढ़ रही है। पहले की अपेक्षा भीड़ बढऩे लगी है। डिलीवरी के लिए गर्भवती महिलाएं इसी अस्पताल को अच्छा मान रही हैं, जिसकी वजह से यहां गर्भवती महिला प्रसव कराने पहुंच रही है। लवन अस्पताल में हर दिन नन्हे बच्चों की किलकारी सुनाई पड़ रही है। सुरक्षित प्रसव होने पर आसपास के लोग प्रसव कराने पहुंच रहे है।
बीएमओ डॉ. राकेश कुमार प्रेमी ने बताया कि घर में प्रसव होने पर जच्चा-बच्चा की हालत बिगडऩे पर अस्पताल लाना पड़ता है। ऐसे में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में जिला अस्पताल में ही महिलाओं का प्रसव कराएं। स्वास्थ्य विभाग का प्रयास रहता है कि महिलाओं का संस्थागत प्रसव कराया जाए। डॉ. प्रेमी ने कहा कि कोई भी महिला गर्भवती है तो उसकी जांच कराकर टीके जरूर लगवाएं। परिजनों को प्रसव सरकारी अस्पताल में ही कराने के लिए प्रेरित करें। संस्थागत प्रसव कराने से शिशु एवं मृत्यु दर को रोका जा सकता है। सरकार द्वारा संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने को जननी सुरक्षा योजना चला रही है। योजना का उद्देश्य संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देकर मातृ व शिशु मृत्यु दर को रोकना है। योजना में सरकारी अस्पताल पर प्रसव कराने पर प्रसूताओं को 14 सौ रुपए मदद दिए जाते हैं तथा शहरी क्षेत्र में एक हजार रुपए आर्थिक मदद की जाती है।
डॉ. प्रेमी ने यह भी कहा कि सुरक्षित डिलीवरी के लिए समय से महिला का अस्पताल पहुंचना जरूरी होता है। लेट होने पर परेशानी बढ़ जाती है। इसलिए डिलीवरी का समय आने पर तुरंत ही अस्पताल पहुंचकर सुरक्षित प्रसव करावें। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ नेत्र चिकित्सा अधिकारी (अस्पताल प्रबंधक) डॉ. दुर्गेश बंजारे ने बताया कि 1 नवम्बर से 6 दिसम्बर तक 108 गर्भवती महिलाओं की सुरक्षित डिलवरी हुई है तथा 122 आईपीडी मरीज तथा 60 इमरजेंसी मरीज का इलाज हुआ है। वहीं, ओपीडी में लगभग 1300 लोगों का इलाज केवल 35 दिनों में हुआ है। सरकारी अस्पताल के प्रति धीरे-धीरे लोगों में जागरूता देखी जा रही है। पहले लोग सरकारी अस्पताल के नाम से डरते थे, अब वही लोग सरकारी अस्पताल पहुंचकर इलाज करा रहे हंै।
लवन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 35 दिनों में 108 प्रसूताओं का हुआ सुरक्षित प्रसव
लवन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 35 दिनों में 108 प्रसूताओं का हुआ सुरक्षित प्रसव

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की पहली लिस्ट, 34 उम्मीदवारों को दिया टिकटराष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय की गई अमर जवान ज्योति की लौ; देखें VIDEO'हिजाब' पर कर्नाटक के शिक्षा मंत्री के बयान पर बवाल! जानिए क्या है पूरा मामलादिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारMizoram Earthquake: मिजोरम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर रही 5.6 तीव्रताCovid-19 Update: दिल्ली में आज आए कोरोना के 10756 नए मामले, संक्रमण दर हुआ 18.4%लापरवाही या साजिश : CBI के आने से पहले ही मिटा दिए सबूत, तिजारा फाटक ओवरब्रिज पर कराई सफाई, पुलिस ने घटनास्थल को नहीं रखा सुरक्षितIndian Army Recruitment 2022: बिना एग्जाम भारतीय सेना में भर्ती का सुनहरा मौका, ऐसे करें आवेदन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.