विधानसभा चुनाव 2018: रायपुर दक्षिण सीट पर होती है शहर की सबसे बड़ी हार-जीत

विधानसभा चुनाव 2018: रायपुर दक्षिण सीट पर होती है शहर की सबसे बड़ी हार-जीत

Ashish Gupta | Publish: Sep, 07 2018 07:31:35 PM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 07:39:18 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

रायपुर शहर दक्षिण सीट के लिए 2008 में हुए पहले चुनाव में बृजमोहन अग्रवाल ने कांग्रेस के योगेश तिवारी को 24 हजार 939 मतों से हराया था।

रायपुर. एक दशक पहले अस्तित्व में आए रायपुर शहर दक्षिण को भाजपा का दुर्जेय किला कहा जाता है। शहर की सबसे बड़ी हार और जीत यहीं से होती है। इस सीट से मौजूदा विधायक बृजमोहन अग्रवाल भाजपा के कद्दावर नेताओं में शुमार हैं और प्रदेश सरकार में कृषि एवं जल संसाधन विभाग के मंत्री भी। इस सीट के लिए 2008 में हुए पहले चुनाव में बृजमोहन अग्रवाल ने कांग्रेस के योगेश तिवारी को 24 हजार 939 मतों से हराया था।

2013 में उनके सामने रायपुर की महापौर रहीं कांग्रेस नेत्री किरणमयी नायक थीं। उस बार भी बृजमोहन 34 हजार 799 मतों से जीते। जीत का अंतर बढ़ गया था। हार-जीत के इस अंतर के अलावा यहां उम्मीदवारों की संख्या भी रिकॉर्ड रही है। 2008 के चुनाव में इस सीट पर 22 उम्मीदवार थे। जिनमें अधिकतर की जमानत जब्त हुई। तुलनात्मक रूप से देखें तो उस चुनाव में रायपुर पश्चिम सीट से 14 प्रत्याशी और रायपुर उत्तर से 12 प्रत्याशी मैदान में उतरे। 2013 के चुनाव में तो दक्षिण सीट से 38 उम्मीदवार हो गए। वहीं पश्चिम और उत्तर में उम्मीदवारों की संख्या 15-14 ही रह पाई।

ताल ठोक रहे हैं कई उम्मीदवार
भाजपा से मौजूदा विधायक बृजमोहन अग्रवाल का विकल्प फिलहाल नहीं है। कांग्रेस में कई दावेदार ताल ठोंक रहे हैं। इनमेंं से कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला, पार्षद एजाज ढेबर, पार्षद सतनाम सिंह पनाग, व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कन्हैया अग्रवाल, पुष्पेंद्र सिंह परिहार, मनोज ठाकुर, आलोक पांडेय और प्रेमचंद लुनावत का नाम शामिल है। आम आदमी पार्टी ने मुन्ना बिसेन को यहां से मैदान में उतारा है। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ और बसपा भी यहां से उम्मीदवार उतारने को तैयार हैं।

इसलिए है उम्मीद
सुशील आनंद शुक्ला लंबे समय से प्रदेश कांग्रेस संगठन का काम देख रहे हैं। उनको संगठन से उम्मीद है तो सतनाम पनाग टिकरापारा क्षेत्र के पार्षद हैं, प्रत्याशी की हार के बावजूद यहां कांग्रेस सबसे अधिक वोट पाती रही है। एजाज ढेबर को सामाजिक समीकरणों पर भरोसा है। कन्हैया अग्रवाल क्षेत्र के मुददों को लेकर लंबे समय से सक्रिय हैं। आप के मुन्ना बिसेन को भाजपा-कांग्रेस से नाराज लोगों से उम्मीद है।

जनता नाराज है
प्रवक्ता कांग्रेस धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि संगठन पूरी ताकत से चुनाव लड़ेगा। इस बार जीत तय है। आम जनता भी कार्यकर्ताओं के साथ खड़ी है। भ्रष्टाचार और मंत्री की मनमानी से जनता में नाराजगी है।

जीत में अंतर रहेगा
जिलाध्यक्ष भाजपा राजीव अग्रवाल ने कहा कि दक्षिण में पार्टी के सामने कोई चुनौती नहीं है। बृजमोहन वहां सर्वमान्य नेता हैं। हर बार जीत का प्रतिशत बढ़ता है। इस बार भी भारी अंतर से जीतेंगे।।

समस्याएं आज भी है
मलसाय तालाब क्षेत्र पिंटू वर्मा ने कहा कि क्षेत्र में अपेक्षा के अनुसार विकास कार्य नहीं हुए हैं। बेरोजगारी आज भी सबसे बड़ी समस्या है। शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं की समस्याएं आज भी मौजूद हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned