Chaitra Navratri 2021: लॉकडाउन से पहले पूजा सामग्री में भी खूब लूट, दुकानें नहीं खुलने का उठाया फायदा

Lockdown in Raipur: 13 अप्रैल से शक्ति उपासना का नवरात्रि पर्व (Chaitra Navratri 2021) प्रारंभ होने जा रहा है और 19 अप्रैल तक सभी दुकानें शटडाउन रहेंगी। इसी का भरपूर फायदा पूजा सामग्री बेचने वाले कारोबारियों ने भी उठाया।

By: Ashish Gupta

Updated: 12 Apr 2021, 09:10 AM IST

रायपुर. Lockdown लगने से पहले तक शुक्रवार को जिस तरह लोग के बीच सब्जी और राशन सामग्री खरीदने के लिए मारामारी मची। वैसी ही स्थिति पूजन सामग्री दुकानों में भी देखी गई। मातारानी के लिए नारियल, चुनरी, धूप-अगरबत्ती और मिट्टी के कलश खरीदकर ही घर लौटे। क्योंकि 13 अप्रैल से शक्ति उपासना का नवरात्रि पर्व (Chaitra Navratri 2021) प्रारंभ होने जा रहा है और 19 अप्रैल तक सभी दुकानें शटडाउन रहेंगी। इसी का भरपूर फायदा पूजा सामग्री बेचने वाले कारोबारियों ने भी उठाया। हर सामग्री 10 से 15 रुपए अधिक देकर लोगों को लेने के लिए मजबूर होना पड़ा।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना की लहर बेकाबू: 24 घंटे में आए रिकॉर्ड नए केस, एक्टिव केस 76 हजार के पार

कोरोना के इस गहरे संकट के कारण वैसे ही भगवान के सभी मंदिरों के दरबाजे भक्तों के लिए दो दिन पहले से बंद हो गए। ऐसे में हिंदू नववर्ष हो या नवरात्रि पर्व, सब घरों में ही मनाना है। इसलिए दुकानें बंद होने से पहले तक शहर के सभी हिस्सों से लोग नवरात्रि पर्व के लिए पूजन सामग्री की खरीदारी करने में जुटे रहे। लोगों के आस्था को कारोबारी भांप चुके थे मनमानी तरीके से हर चीजों में 10 से 15 रुपए बढ़ाकर ही छोटी-बड़ी चुनरी, नारियल, पूजा सामग्री के पैकेट बेचे, परंतु मजबूर ग्राहक खरीदने से मना नहीं कर सके, क्योंकि इसके बाद फिर कोई दूसरा विकल्प उनके सामने था नहीं। इसलिए जितने रेट में मिला नवरात्रि के लिए खरीदारी की।

यह भी पढ़ें: राजधानी में बनाए जा रहे हैं 12 नए कोविड-19 केयर सेंटर, जानिए कहां हैं कितने बेड और वेंटिलेटर

20 को महाअष्टमी और 21 अप्रैल को रामनवमी
अभी तय सीमा के अनुसार 19 अप्रैल को सुबह 8 बजे तक 10 दिनों का Lockdown समाप्त हो जाएगा। इसकी दूसरे दिन नवरात्रि पर्व की महाअष्टमी का हवन होगा और 21 अप्रैल को Ram Navami तिथि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव है। लेकिन, यह भरोसा नहीं है कि लोग मंदिरों में आस्था के ये दोनों पर्व मंदिरों में मना सकेंगे। क्योंकि आगे अभी कुछ कहा नहीं जा सकता। वजह यही कि कोरोना का संकट काफी गहरा है। इसलिए लॉकडाउन लगने से पहले तक दिनभर लोग घर में रोजमर्रा की सामग्री लाने के साथ ही हवन-पूजन की सामग्री खरीदाने में भी जुटे रहे।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन में शादी, अंत्येष्टि, दशगात्र और अंतिम संस्‍कार के लिए यहां करें ऑनलाइन आवेदन

तिथियों में घट-बढ़ नहीं, नवरात्रि पूरे नौ दिन
महामाया मंदिर के पुजारी पंडित मनोज शुक्ला ने बताया कि नवरात्रि पर्व में तिथियों का घट-बढ़ नहीं है। सभी तिथियां पूर्ण है। इसलिए नौ दिनों तक तिथिवार मां शक्ति स्वरूपा का अभिषेक पूजन होगा। चैत्र शुक्लपक्ष की प्रतिपदा तिथि पर अभिजीत मुहूर्त सुबह 11.36 से 12.24 में देवी मंदिरों में प्रधान ज्योत कलश प्रज्वलित होगा। लोग पूजा घरों में विधि-विधान से आस्था ज्योत प्रज्वलित कर सुबह-शाम पूजा-आरती में मन लगाएंगे।

कीमत तब और अब
छोटी चुनरी - 10- 20 रुपए
बड़ी चुनरी - 100-120 रुपए
नारियल - 20-25 रुपए
हवन सामग्री - छोटा 50 रुपए का पैकेट 65 रुपए

Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned