नारी के परिवार बर समरपन

समाज

By: Gulal Verma

Published: 17 Nov 2020, 04:43 PM IST

नदिया के खंड़ म अब्बड़ सुग्घर रुखराई, खेत-खार, हरियर दुबी-कांदी ल भराय चादर भांठा म चारोमुड़ा म बर, पीपर, लीम, आमा, जाम रुख के एक भांवर छावनी जेन म चिरई-चुरगुन के मीठ भरे बोली गुंजत रहय। उही मंझोत के चातर भुइंया म बने सरकारी इस्कूल, आंगनबाड़ी, सुवास्थ्य केंद्र, पोस्ट ऑफिस के भवन, बोरिंग अउ नवा बने पक्की सड़क। फेर, सड़क के वो पार बड़का-बड़का तरिया म भराय घात सफ्फा पानी ले लछमीपुर गांव के सुघरई ल काय कहिबे। जिहां के रहइयामन ल अपन गांव सरग कस लागय।
दया-मया संग सुमता ल भरे गांव जिहां किसिम-किसिम के नाचा, गम्मत, लीला होवत रहय। कहुं अपन गांव ल छोड़ के दूसर जगा म बसे के कभु सपना म नइ सोचय सब जुरमिल के आनंद अउ खुसहाली म जिनगी बितावंय। उहां के सरपंच रामपरसाद बढिय़ा सुभाव के मनखे रहिस। वोकर एक बेटा विकरम अउ एकझिन बेटी बिमला रहिस। दूनों भाई-बहिनी पढ़े-लिखे म हुसियार लइका रहिन। कालेज के पढ़ई ल घलो पूरा करत रहिन, तभे सरपंच के बेटा विकरम के गुरुजी के रूप म गांव ले अब्बड़ दूरिहा दूसर जिला म नौकरी लग गिस अउ बिमला के घलो बिहाव बर सगा आ गिस। बढिय़ा घराना अउ सुभिमानी सुभाव के करमठ लड़का ल देख सरपंच ह बिमला के बिहाव ल कर दिस।
विकरम के मन ल अपन नौकरी वाला नगर ह थोरको नइ सुहावय। अपन सरग ले सुग्घर गांव, घर-परिवार, दाई-ददा, कका-काकी, संगी-जहुंरिया के सुरता ह मन म हिलोरा मारय अउ किचोटत रहय। फेर, कइसनो करके चार बछर ल लटपट बिताइस, तहां ले अपन घर तीर के गांव म बदली करा के आगिस अउ बड़ मजा के रहे लागिस।

आज बिमला घलो आंगनबाड़ी कारयकरता के रूप म नौकरी करत हे अउ समे निकाल के खेत-खार कमावत -खावत जिनगी ल बितावत हे। बिमला के ससुराल जंगल भीतर आय। जिहां न पक्की सड़क न स्वास्थ्य केंद्र हे। छोटकुन गांव हे। वनवासी गरीब लइकामन ल अपन सिक्छा ले पढ़ा -लिखा के वोकरमन के बने सुवास्थ बर पूरा लगन ले सेवा करत हे। अपन दू बछर के लइका, घरवाले, सास-ससुर के सेवा करत जिनगी बितावत हे। अइसे मगन हे अपन दुनिया म जइसे वोकर इहां के सिवा कोनो दूसर ठउर ले कोनो नता नइये। तेकरे सेती डेढ़ बछर होगे अपन मइके नइ गे हे। सिरतोन, अपन घर-परिवार, संसार ल भुला के एक अनचिन्हार मनखे, घर-परिवार ल अपन बनइया सिरिफ एक नारी हो सकथे।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned