मया के बोली म मोहा जथे मन

समाज

By: Gulal Verma

Published: 03 May 2021, 04:38 PM IST

पीगे मीरा मया म महुरा मानस तुलसी लिख गे रे। धन होगे ओ जिनगी, जेहा, मया के भाखा सीख गे रे। मनखे के जिनगी म मया होय बर चाही। जुन्ना जुग म मनखे के हिरदे म मया के भाव नइ रहय। ऐकर सेती बैर के भाव मनखे के हिरदे म भरे रहय। जेला हरे खातिर भगवान घलो ल बेरा-बेरा म मानुस रूप धर के अवतरे बर लागिस।
किसन-कन्हैया के रूप धर के राधा के संग भगवान के रासलीला ल मया के पहिली चरन माने जाथे। जेमा मनखेमन के हिरदे म नारी बर मया के भाव ह जुग -जुग म अमर होइस। जे समरपन के भाव मीरा ह अपन जिनगी म लानिस जेकर बर महुरा (जहर) घलो ह अमरित होगिस। अइसने समरपन के भाव तुलसी के जिनगी म राम के भगती बर देखे बर मिलथे। जेमा गोस्वामी महराज अइसन रमाए रहिथे के वोकर कलम ले रमायन अइसन गरन्थ के रचना हो जाथे। जेकर सुने भर ले मनखे के जम्मो पाप सिरा जाथे।
मया के भाव मनखे के जिनगी ल बदल देथे। वोकर हिरदे म तियाग, समरपन अउ सम भाव के अइसन भाव लान देथे के, तीन लोक के तारनहार भगवान घलो ल सबरी दाई के जुठा बोइर ल बड़ परेम भाव ले खाके आन मनखे ल संदेस देथे के- ‘मया के आघू मनखे के जात-पात, मालिक-सेवक के बंधना नइ रहय। ऐकर आघू बस परेम के भाव रहिथे। जेमा बंधा के मनखे अपन मयारूक बर परबत घलो संग जूझे बर तइयार रहिथे। ऐमा वोकर एकेठन सुवारथ रहिथे के, मयारूक के हिरदे ल कोनो किसम ले दुख झन मिलय। वोकर भाग के जम्मो दुख- पीरा वोला मया करइवइया मनखे के भाग म लहुट जाय।
नवा जुग म मया के रूप ह सुवारथ म लपटाय हवय। मनखे कोनो मनखे करा ऐकरे बर जुड़े हवय के वोकर कुछु सुवारथ पूरा होही। कलजुग के ये परभाव ल हमर बेद-पुरान पहिली ले लिख डारे हे- सुवारथ लागही करै बड़ प्रीती। मनखे के जिनगी म जेन बेरा ले सुवारथ समाय लागथे, तियाग, समरपन के भाव ह भागे-छोड़े बर सुरू हो जथे। आज के नवा जुग म तियाग-तपसिया के जगा ल लालच, कपट अउ जलन ह पोटार ले हे।
मनखे ह ये जानत हावय के ये सब माया-मोह ल इंहे छोड़ के जाय बर हे। लालच-सुवारथ के परपंच म झपाके परेम के रूप ल मइलावत हे। मया के जगा ल वासना रपोटे हावय। जेकर आगू नवा पीढ़ी ह छिनभर म अपन रद्दा ल भूला देवत हे। दाई- ददा के बीस बछर के दया-मया के रिस्ता ह छिनभर म टूटे लागत हे। आज के लोगनमन बड़ सुवारथी होगे हें।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned