पेगासस जासूसी मामले में छत्तीसगढ़ में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ी, प्रदेश कांग्रेस ने निकाला पैदल मार्च

इजराइली जासूसी साफ्टवेयर पेगासस (Pegasus Hacking Case) के जरिए छत्तीसगढ़ के चार से अधिक लोगों की जासूसी का मामला सामने आने के बाद राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है।

By: Ashish Gupta

Published: 22 Jul 2021, 07:10 PM IST

रायपुर. इजराइली जासूसी साफ्टवेयर पेगासस (Pegasus Hacking Case) के जरिए छत्तीसगढ़ के चार से अधिक लोगों की जासूसी का मामला सामने आने के बाद राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है। गुरुवार को छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष मोहन मरकाम (Mohan Markam) के नेतृत्व में मंत्री कवासी लखमा, विकास उपाध्याय सहित कई वरिष्ठ नेताओं और यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता पैदल मार्च करते हुए राजभवन पहुंचे। वहीं छत्तीसगढ़ कांग्रेस और यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस जवान तैनात किए गए थे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हल्की झड़प हुई।

यह भी पढ़ें: पेगासस जासूसी मामले में CM भूपेश ने कहा- छत्तीसगढ़ में भी आए थे कंपनी के लोग, सरकार ने की जांच कमेटी गठित

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा, केंद्र सरकार प्रजातंत्र को पांव तले रौंदने का काम कर रही है। उनका आरोप है कि मोदी सरकार ने देशद्रोह करते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ किया है। राहुल गांधी समेत देश के विपक्षी नेताओं, देश के सम्मानित अलग-अलग मीडिया संगठनों के पत्रकारों और संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों की जासूसी करवाई है। भारतीय जनता पार्टी का नाम बदल कर अब भारतीय जासूसी पार्टी रख देना चाहिए। उन्होंने इस पूरे मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में करवाने और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned