scriptChhattisgarh: 17 चौसिंगा मौत मामले में एक डॉक्टर बर्खास्त, दो की वेतनवृद्धि रोकी | Chhattisgarh: 17 A doctor was dismissed in the Chausinga death case | Patrika News
रायपुर

Chhattisgarh: 17 चौसिंगा मौत मामले में एक डॉक्टर बर्खास्त, दो की वेतनवृद्धि रोकी

Chhattisgarh News: दोषी पाए गए अधिकारियों डॉ. राकेश कुमार वर्मा (वन्यप्राणी चिकित्सा अधिकारी) और वायके डहरिया (सहायक संचालक) को तीन साल की वेतनवृद्धि असंचयी प्रभाव से रोकने की सजा दी गई है…

रायपुरJul 06, 2024 / 05:07 pm

चंदू निर्मलकर

Chhattisgarh news
Chhattisgarh: नंदनवन जू और जंगल सफारी, नवा रायपुर में 17 दुर्लभ चौसिंगा की मौत के मामले में छत्तीसगढ़ के वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग ने अनुशासनात्मक कार्रवाई की है। इस कार्रवाई में संविदा डॉक्टर सोनम मिश्रा को उनके पद से हटा दिया गया है। वहीं, दोषी पाए गए अधिकारियों डॉ. राकेश कुमार वर्मा (वन्यप्राणी चिकित्सा अधिकारी) और वायके डहरिया (सहायक संचालक) को तीन साल की वेतनवृद्धि असंचयी प्रभाव से रोकने की सजा दी गई है।

Chhattisgarh News: संविदा डॉक्टर को हटाने का फैसला

जंगल सफारी में चौसिंगा की मौत के समय संविदा डॉक्टर सोनम मिश्रा अकेले वन्यप्राणी चिकित्सक के रूप में कार्यरत थीं। जब यह मामला विधानसभा में उठा और छह महीने बाद रिपोर्ट आई, तब केवल डॉक्टर सोनम मिश्रा को ही पद से हटा दिया गया। उस दौरान डॉक्टर मिश्रा ने बीमार चौसिंगा की चिकित्सा के लिए कई विशेषज्ञों से मार्गदर्शन लिया था और अन्य पशु चिकित्सा अधिकारियों की मदद से 7 चौसिंगा की जान बचाई थी।
यह भी पढ़ें

ACB ने रिश्वत लेते रायपुर की महिला इंस्पेक्टर को रंगे हाथों पकड़ा, दहेज प्रताड़ना की FIR लिखने मांगे थे 50 हजार रुपए…बवाल

Chhattisgarh: ये था मामला

एशिया के सबसे बड़े जंगल सफारी में पांच दिन में 17 चौसिंगा की मौत से हड़कंप मच गया था। नवा रायपुर स्थित नंदनवन जू व जंगल सफारी के चौसिंगा बाड़े में 25 से 29 नवंबर के बीच 17 चौसिंगा की मौत हो गई है। चौसिंगा की मौत की वजह का खुलासा नहीं हो पाया है। प्रबंधन की लापरवाही है या जानवरों में अज्ञात बीमारी के चलते यह घटना हुई है? इसे लेकर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ने सवाल उठाए थे, जिसके बाद जांच की गई थी। वहीं सेंट्रल ज़ू अथॉरिटी में भी अभी जांच चल रही है।

Chhattisgarh: कब-कब हुई मौत

25 नवंबर 5 चौसिंगा

26 नवंबर 3 चौसिंगा

27 नवंबर 5 चौसिंगा

28 नवंबर 2 चौसिंगा

29 नवंबर 2 चौसिंगा

अधिकारियों के बीच आरोप-प्रत्यारोप

चौसिंगा की मौत के बाद जंगल सफारी में अधिकारियों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। बताया जाता है कि वन्यप्राणी चिकित्सा अधिकारी डॉ. राकेश वर्मा अवकाश पर थे और उन्होंने सीडब्ल्यूएलडब्ल्यू से स्वीकृति लेकर छुट्टी ली थी, जबकि उनकी छुट्टी की स्वीकृति नहीं मिली थी। अधिकारियों ने इसकी शिकायत पीसीसीएफ से की है।

वेतनवृद्धि रोकना सजा नहीं, इनाम

डॉ. राकेश वर्मा और वायके डहरिया को तीन साल की वेतनवृद्धि रोकने की सजा दी गई है। इसका मतलब है कि तीन साल बाद यह रुका हुआ वेतन उनके खाते में जमा कर दिया जाएगा। विधानसभा में यह सवाल उठने के बाद यह सजा नहीं, बल्कि एक तरह का इनाम है।
Story By – दिनेश यदु

Hindi News/ Raipur / Chhattisgarh: 17 चौसिंगा मौत मामले में एक डॉक्टर बर्खास्त, दो की वेतनवृद्धि रोकी

ट्रेंडिंग वीडियो