बस्तर मंथन में बनी रणनीति पर भाजपा की अहम बैठक शुरू, इन मुद्दों पर आंदोलन तेज करने होगी चर्चा

बस्तर में 3 दिनों तक चले भाजपा के चिंतन शिविर में आगामी 2 साल की रणनीति तैयार की गई। उसे अमल में लाने के लिए प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय ने शुक्रवार को प्रदेश के सभी पदाधिकारियों की बैठक बुलाई है। जिसमें विधिवत सभी को टॉस्क दिए जाएंगे।

By: Ashish Gupta

Updated: 10 Sep 2021, 01:37 PM IST

रायपुर. बस्तर में 3 दिनों तक चले भाजपा के चिंतन शिविर (BJP Chintan Shivir) में आगामी 2 साल की रणनीति तैयार की गई। 4 राष्ट्रीय पदाधिकारियों समेत प्रदेश के चुनिंदा 60 नेताओं ने सरकार को घेरने की जो कार्ययोजना बनाई गई है, उसे अमल में लाने के लिए प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय (BJP Chhattisgarh President Vishnu Deo Sai) ने शुक्रवार को प्रदेश के सभी पदाधिकारियों की बैठक बुलाई है। जिसमें विधिवत सभी को टॉस्क दिए जाएंगे।

सूत्रों के मुताबिक भाजपा मुख्य रूप से धर्मांतरण, किसानों की कर्ज माफी, नकली खाद-बीज, महिला स्व. सहायता समूहों की कर्ज माफी, किसान आत्महत्या, बढ़ते अपराध, महिला सुरक्षा के मुद्दे पर सरकार के विरुद्ध आंदोलन करेगी। पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी नलीनेश ठोकने ने बताया कि बैठक में कोर कमेटी के सभी पदाधिकारियों, प्रदेश पदाधिकारियों, संभाग पदाधिकारियों, भाजपा जिला प्रभारी व सह प्रभारियों और अध्यक्षों को बुलाया गया है। प्रदेश के साथ-साथ जिलेवार मुद्दे पर भी इस बार फोकस की तैयारी है। उधर, भाजपा अब आक्रामक मूड में दिखाई दे सकती है, क्योंकि मंथन शिविर में यह तय हुआ है कि अब विधानसभा चुनाव 2023 को कम समय रह गया है। सरकार के खिलाफ 'नरम' नहीं तेवर 'गरम' रखने होंगे।

चेहरे भी बदले जा सकते हैं
सूत्रों के मुताबिक भाजपा जल्द पदाधिकारियों के दायित्वों में बदलाव कर सकती है, यानी नए चेहरों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिल सकती है। इसके संकेत पूर्व में ही प्रदेश अध्यक्ष ने 'पत्रिका' से बातचीत में दिए थे। बस्तर मंथन के बाद यह चर्चा पार्टी के अंदर जोरों पर है कि नए चेहरे कौन-कौन होंगे?

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned