CM भूपेश ने की गौरा-गोरी की पूजा अर्चना, मंगलकामना के लिए झेला सांटा का प्रहार

- सीएम भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना की
- सबकी मंगलकामना के लिए सांटा का प्रहार झेलने की परंपरा निभाई

By: Ashish Gupta

Published: 15 Nov 2020, 01:19 PM IST

रायपुर. दीपावली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा की जाती है, इसे अन्नकूट के रूप में जाना जाता है। सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने प्रदेशवासियों को 15 नवम्बर को गोवर्धन पूजा और गौठान दिवस के अवसर पर बधाई और शुभकामनाएं दी हैं और प्रदेश की सुख, समृद्धि और खुशहाली की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि गोवर्धन पूजा लोकजीवन से जुड़ा त्यौहार है।

Govardhan Pooja: मुख्यमंत्री भूपेश ने गोवर्धन पूजा और गौठान दिवस की दी शुभकामनाएं

वहीं मुख्यमंत्री भूपेश ने सीएम आवास में गौरा-गौरी की पूजा की। इसके बाद हमेशा की तरह इस बार भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज दुर्ग जिले के ग्राम जजंगिरी, कुम्हारी पहुंचकर सबकी मंगलकामना के लिए सांटा का प्रहार झेलने की परंपरा निभाई। हर बार गांव के बुजुर्ग भरोसा ठाकुर यह प्रहार करते थे, उनके निधन के कारण इस साल यह परंपरा उनके बेटे बीरेंद्र ठाकुर ने निभाई।

बड़ी राहत: अक्टूबर में थोड़ा, नवंबर में और थोड़ा कमजोर पड़ा कोरोना वायरस

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुंदर परंपरा सबकी खुशहाली के लिए मनाई जाती है। इस बात का दुख है कि इस बार भरोसा ठाकुर हमारे बीच नहीं हैं। खुशी इस बात की है कि उनके बेटे बीरेंद्र, उनका परिवार और जजंगिरी के ग्रामीण इस परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं।

सीएम भूपेश ने कहा कि इस बार दीवाली कोरोना काल में आई है। हमेशा मास्क पहने रहे, हाथ साबुन से धोएं तथा फिजिकल दूरी का पालन करें। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कुम्हारी में गौरा गौरी की पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना की।

Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned