छत्तीसगढ़ : स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव बोले नाइट कर्फ्यू-लॉक डाउन की अभी जरूरत नहीं

'पत्रिका' से बातचीत में स्वास्थ्य मंत्री बोले

- 15 से 23 नवंबर के बीच मिले औसतन रोजाना 1,716 संक्रमित।
- बहुत ज्यादा सख्ती के मूड में नहीं है सरकार... मान रही स्थिति नियंत्रण में है।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 24 Nov 2020, 11:49 PM IST

रायपुर. प्रदेश में दिवाली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या हर रोज बढ़ती जा रही है। मौतों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। ऐसे में संभावना जताई जा रही थी कि अन्य राज्यों की तरह ही राज्य सरकार भी नाइट कफ्र्यू जैसा ठोस निर्णय ले सकती है। मगर, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने ऐसी सभी संभावनाओं, आशंकाओं और अफवाहों पर पूरी तरह से विराम लगा दिया।

'पत्रिका' से बातचीत में सिंहदेव ने कहा कि अगर हम दिन में सबकुछ खुला रखते हैं और रात में बंद करते हैं तो उसका कोई विशेष फायदा नहीं होगा। अभी सरकार यह मान रही है कि छत्तीसगढ़ के हालात अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर हैं। कोरोना पर स्थिति नियंत्रण में हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, कलेक्टर को पत्र लिखकर तमाम तैयारियां रखने के निर्देश जारी कर दिए हैं। सभी कोविड अस्पतालों और कोरोना केयर सेंटर जो बंद हो गए थे, उन्हें फिर से तैयार करने कहा गया है। बतौर उदाहरण माना कोविड हॉस्पिटल, जो बंद हैं।

दिवाली के बाद 1,716 मरीज मिल रहे रोजाना
1 नवंबर से 14 नवंबर तक कुल 14 दिन 22,734 मरीज रिपोर्ट हुए। यानी रोजाना 1,623 मरीज मिले जबकि 15 से 23 यानी 9 दिनों में15,448 मरीज मिले। इन 9 दिनों में औसत 1,716 रहा है। जो दिवाली के पहले दिनों की तुलना में रोजाना 93 मरीज अधिक है। जो कोरोना के खतरे को बयान करता है।

छत्तीसगढ़ में पॉजिटिविटी रेट 6.3 प्रतिशत
प्रदेश सरकार यह मान रहा है कि अभी कोरोना पर हालात नियंत्रण में हैं। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त-सितंबर जब कोरोना पीक पर था, तब पॉजिटिविटी रेट १५.५ प्रतिशत था। अक्टूबर और नवंबर में हालात संभले और यह संभलता हुआ ६.३ प्रतिशत पर आ गया है। जब यह ३ प्रतिशत पर पहुंचेगा तो स्थिति संतोषजनक होगी। यह माना जाएगा कि संक्रमण घट रहा है। मगर, यह सावधानी, जागरूकता से संभव है।

रायपुर में आज से शादियों पर रखी जाएगी नजर

रायपुर जिला प्रशासन भी सख्ती के एक-एक कदम उठा रहा है। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने प्रशासनिक अधिकारियों और नगर निगम की संयुक्त टीम गठित कर दी है, जो शादी समारोहों पर नजर रखेगी। कलेक्टर ने पत्रिका को बताया कि शादी में सिर्फ 200 लोग रहेंगे। इससे ज्यादा होंगे तो कोरोना अधिनियम नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। इसलिए सभी परिवार नियमों का पालन करें।

' पत्रिका' के सवालों पर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के जवाब-
स्थिति नियंत्रण में हैं, बस हम-आप नियमों से चलें

सवाल:- क्या फ्लाइट से आने वालों के लिए पॉजिटिव रिपोर्ट लाने जैसी अनिवार्यता होगी, जैसा महाराष्ट्र ने किया है?
- हमारे यहां ५००० लोगों का ट्रैफिक है। एयरपोर्ट पर एंटीजन टेस्ट और थर्मल स्क्रीनिंग के लिए स्वास्थ्य टीम बैठेगी। इससे ज्यादा की अभी आवश्यकता नहीं है। अभी स्थिति नियंत्रण में है। बस लोग नियमों से चलें।

सवाल:- इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ाने को लेकर क्या निर्देश हैं?
- ऑक्सीजनयुक्त बेड बढ़ाए जा रहे हैं। मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं और वायरोलॉजिकल लैब भी नए कॉलेजों में खोलने का प्रस्ताव है।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned