नेताओं के खास और शराब बॉटलिंग से जुड़े कारोबारी के यहां आयकर का छापा

  • रायपुर और कुम्हारी स्थित घरों और दफ्तर में दी दबिश
  • लैपटॉप, कम्प्यूटर, स्टॉक रजिस्टर और लेनदेन के दस्तावेजों की जांच

By: Anupam Rajvaidya

Published: 04 Feb 2021, 02:17 AM IST

रायपुर. आयकर अवेन्षण विभाग की टीम ने राजनेताओं के खास और शराब व बीयर की बॉटलिंग प्लांट से जुड़े कारोबारी के रायपुर और दुर्ग के कुम्हारी स्थित 3 ठिकानों पर बुधवार को छापा मारा। 20 सदस्यीय टीम द्वारा कुम्हारी स्थित प्लांट, दफ्तर और रायपुर के शंकरनगर टीवी टावर के पास घर में तलाशी की गई है। कारोबारी का लैपटॉप, कम्प्यूटर, स्टॉक रजिस्टर और लेनदेन के दस्तावेजों को जांच के दायरे में लिया गया है।

ये भी पढ़ें...कोविड-19 जांच को लेकर ऐसा क्या हुआ कि अगले माह नहीं मिलेगी सैलरी
बताया जाता है तलाशी में बड़ी संख्या में कच्ची रसीदें और लेनदेन से संबंधित लूज पेपर मिले हैं। टैक्स चोरी करने के लिए बोगस बिल बनाने की जानकारी मिली है। वहीं बैलेंसशीट में आय से अधिक खर्च दिखाया गया है। फिलहाल आयकर विभाग की टीम प्लांट के उत्पादन और डिलीवरी के हिसाब के साथ ही आय-व्यय का हिसाब कर रही है। आयकर विभाग दिल्ली से मिले इनपुट के आधार पर रायपुर स्थित टीम ने सुबह करीब 6 बजे एक साथ सभी ठिकानों पर दबिश दी है।
ये भी पढ़ें...पक्षी जागरुकता एवं प्रशिक्षण केंद्र की होगी स्थापना
आयकर विभाग को तलाशी के दौरान बड़ी संख्या में प्लांट से संबंधित दस्तावेज घर पर मिले हैं। इसमें कैश बुक और लेनदेन के दस्तावेज हैं। कारोबारी और उसके परिवारवालों के बैंक खातों, ज्वैलरी और निवेश को जांच के दायरे में लिया गया है। साथ ही कारोबारी के परिजनों से बयान भी लिए गए है। आयकर विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण काल के दौरान प्लांट के आधुनिकीकरण पर बड़ी रकम खर्च की गई थी। वहीं, जमा किए जा रहे आयकर रिटर्न में फैक्ट्री को नुकसान में चलना दिखाया जा रहा था। इसे देखते हुए पिछले 3 वर्षों की आईटी फाइलों को खंगाला जा रहा है।
ये भी पढ़ें...छत्तीसगढ़ की पुलिसिंग देश में नं.-2, कर्नाटक टॉप पर

Corona virus coronavirus
Show More
Anupam Rajvaidya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned