मुंबई का ये नाइजीरियन गिरोह मिनटों में बनाता था ATM कार्ड का क्लोन फिर...

Ashish Gupta

Publish: Oct, 12 2017 11:40:31 (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
मुंबई का ये नाइजीरियन गिरोह मिनटों में बनाता था ATM कार्ड का क्लोन फिर...

विदेशों में शॉपिंग करके ऑनलाइन ठगी के मामलों के पीछे मुंबई का नाइजीरियन गिरोह है। गिरोह के दो लोगों को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया।

रायपुर. विदेशों में शॉपिंग करके ऑनलाइन ठगी के मामलों के पीछे मुंबई का नाइजीरियन गिरोह है। गिरोह के दो लोगों को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी एटीएम मशीन में स्कीमर और स्पॉय कैमरे की मदद से बैंक ग्राहकों के एटीएम कार्ड की पूरी जानकारी स्कैन कर लेते थे। इसके बाद उस एटीएम कार्ड का क्लोन बनाते थे। इसकी मदद से विदेशों में ऑनलाइन शॉपिंग व राशि का आहरण कर लेते थे।

मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि रायपुर के जयराम कॉम्पलेक्स स्थिति पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम मशीन की जांच के दौरान स्कीमर और स्पॉय कैमरा लगा मिला। इसकी जानकारी एटीएम का मेटेंनेंस देखने वाले बैंक अधिकारी पवन कुमार को हुई। उन्होंने सीसीटीवी कैमरे की जांच की। इसमें दो युवक ११ अक्टूबर को एटीएम में स्कीमर और कैमरा लगाते दिखे।

इसकी शिकायत मौदहापारा थाने में की गई। क्राइम ब्रांच की टीम आरोपियों की तलाश में जुट गई। फुटेज के आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपियों को स्टेशन इलाके के एक होटल से पकड़ लिया। आरोपियों ने एटीएम में स्कीमर और स्पॉय कैमरा लगाने का डेमो करके बताया।

दोनों मुंबई के रहने वाले हैं। दोनों अमरावती से पहुंचे थे। स्कीमर और कैमरा लगाने के बाद उसमें एटीएम की जानकारी स्टोर होने का इंतजार कर रहे थे। दोनों नाइजीरियन गिरोह से जुड़े हैं। रायपुर में पहली बार इस तरह का मामला सामने आया है।

आधा मिनट में लगा देते हैं डिवाइस
आरोपी काफी शातिर है। क्राइम ब्रांच की पूछताछ में दोनों ने खुलासा किया है कि किसी भी एटीएम बूथ में स्कीमर और स्पॉय कैमरा लगाने में उन्हें आधा मिनट का समय लगता है। वह एेसा समय चुनते हैं, जिस वक्त भीड़ कम होता है। मेहबर बूथ में घुसता है और स्कीमर व कैमरा फीट करता है। उस समय शहनवाज बूथ के बाहर रहता है। इस बीच अगर कोई ग्राहक एटीएम से राशि निकालने आता है, तो शहनवाज उसे रोक देता है।

पुराने एटीएम होते हैं टारगेट
आरोपियों के टारगेट में शहर के पुराने एटीएम मशीन होते हैं, जिसका की-बोर्ड बाहर निकला होता है। उन मशीनों में स्कीमर लगाना आसान होता है। और किसी को आसानी से पता नहीं चलता है। स्पॉय कैमरा को भी टेप की मदद से स्कू्र की तरह लगा देते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned