कोर्ट के आदेश पर भी नहीं मिले विशेषज्ञ, जेल के डॉक्टरों ने किया विनोद वर्मा का चेकअप

कोर्ट के आदेश के बाद भी विशेषज्ञ से जांच, पेन व पेपर उपलब्ध नहीं कराए गए। सामान्य कैदियों की तरह डॉक्टरों ने उनके स्वास्थ्य का परीक्षण किया।

By: Ashish Gupta

Published: 12 Nov 2017, 02:11 PM IST

रायपुर . मंत्री के कथित सेक्स सीडी कांड में जेल भेजे गए पत्रकार विनोद वर्मा की जेल परिसर स्थित अस्पताल में जांच की गई। कोर्ट के आदेश के बाद भी विशेषज्ञ से जांच, पेन व पेपर उपलब्ध नहीं कराए गए।

Read More : बिजली बिल GST से बाहर, लेकिन ऑनलाइन पेमेंट करने वाले उपभोक्ताओं पर बढ़ेगा बोझ

सामान्य कैदियों की तरह डॉक्टरों ने उनके स्वास्थ्य का परीक्षण किया। कमर दर्द के कारण हो रहे दर्द को देखते हुए कुछ दवाइयां उन्हें दी गई। वहीं, जेल प्रशासन ने अदालती आदेश का हवाला देते हुए हाथ खड़ा कर दिया। उन्हें किसी भी तरह की विशेष रियायत देने से इनकार कर दिया।

Read More : OMG! खौफ के साए में जी रहा है ये शहर, रात के अंधेरे में बढ़ जाता है इनका आतंक

जेल डीआईजी केके गुप्ता ने बताया कि विनोद वर्मा को जेल नियमावली के अनुसार सुविधाए दी जा रही है। अभी कोर्ट से किसी भी तरह का आदेश उनके पास नहीं पहुंचा है। इसके मिलने के बाद वह कुछ जानकारी दे सकते हैं।

Read More : 5 साल की बच्ची के साथ पड़ोसी कर रहा था घिनौनी हरकत, पेट दर्द की शिकायत की तो खुला राज

न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजे गए विनोद के अधिवक्ता फैजल रिजवी ने 9 नवंबर को प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी भावेश वट्टी की अदालत में याचिका लगाई थी। कोर्ट ने इसे स्वीकार कर स्वास्थ्य की ठीक से जांच कराने और लिखने पेपर और पेन देने का आदेश दिया था।

हाईकोर्ट में जमानत के लिए कल याचिका होगी पेश
न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजे गए विनोद वर्मा की जमानत याचिका को तैयार कर लिया गया है। उनके अधिवक्ता फैजल रिजवी ने बताया कि सोमवार को हाईकोर्ट ने पेश किया जाएगा। आवेदन में पुलिस द्वारा लगाए गए आरोप और पेश किए गए साक्ष्य को आधार बनाया गया है। इसके साथ ही जेएमएफसी और एडीजे के अदालत में दिए गए फैसले की कापी भी संलग्न की गई है।

Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned