ऐसा क्या हुआ कि छत्तीसगढ़ के तीन निजी अस्पताल नहीं करना चाहते कोरोना इलाज

  • कोरोना पीक के दौरान सितंबर-अक्टूबर में रायपुर के बड़े निजी अस्पतालों ने कोविड मरीजों के इलाज के लिए दिया था आवेदन

By: Anupam Rajvaidya

Published: 23 Jan 2021, 01:57 AM IST

रायपुर. राजधानी रायपुर समेत छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस संक्रमण का ग्राफ तेजी से गिर रहा है। कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के बाद से प्रदेश में 700 से कम संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। राजधानी में भी संक्रमित मरीजों के मिलने का आंकड़ा दो अंकों पर आ गया है। कोरोना संक्रमित मरीजों के गिरते ग्राफ को देखते हुए राजधानी के 3 निजी अस्पतालों ने सीएमएचओ कार्यालय में कोविड-19 का इलाज बंद करने आवेदन दिया है।

ये भी पढ़ें...Shelter Home Scandal : मुजफ्फरपुर बालिका गृह जैसा कांड हुआ छत्तीसगढ़ में भी
सीएमएचओ कार्यालय के एक उच्च अधिकारी ने बताया कि कोरोना पीक के दौरान सितंबर-अक्टूबर में कोविड मरीजों के इलाज के लिए राजधानी के करीब-करीब सभी बड़े निजी अस्पतालों ने आवेदन दिया था। स्वास्थ्य विभाग की टीम के निरीक्षण के बाद 29 अस्पतालों को इलाज की मंजूरी दी गई थी। तीन निजी अस्पतालों ने कोरोना मरीजों के काफी दिनों से नहीं आने से इलाज बंद करने के लिए आवेदन दिया है। उनका कहना है कि वर्तमान में जो मरीज आ रहे उनमें से अधिकतर होम आइसोलेशन में रहना पसंद कर रहे हैं। शासकीय अस्पतालों में भी बेड खाली पड़े हैं।
ये भी पढ़ें...सहायक प्राध्यापक के इंटरव्यू के लिए 2896 उम्मीदवारों का चयन
गत दिनों 3 अस्पतालों के इलाज की अनुमति को निरस्त किया गया था। कुछ निजी अस्पतालों ने आवेदन दिए हैं, लेकिन उच्च अधिकारियों से विचार-विमर्श के बाद ही निर्णय लिया जाएगा। -डॉ. मीरा बघेल, सीएमएचओ, रायपुर
ये भी पढ़ें...छत्तीसगढ़ के सरकारी अस्पताल में पहली सफल ओपन हार्ट सर्जरी

Corona virus coronavirus COVID-19
Show More
Anupam Rajvaidya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned