छत्तीसगढ़ में लौटी ठंड, ओलावृष्टि से फसलों को क्षति

मौसम ने ली करवट : रायपुर समेत कई जिलों में तेज अंधड़

-रायगढ़ और पेंड्रारोड में तेज बारिश

रायपुर- 19.6
बिलासपुर- 18.6

पेंड्रारोड- 14.6
अंबिकापुर - 13.5

जगदलपुर- 16.4
दुर्ग - 18.4

राजनांदगांव- 17.0

By: ramendra singh

Published: 17 Feb 2021, 12:46 AM IST

रायपुर . प्रदेश में मौसम अचानक से बदल गया है। रायपुर, बिलासपुर में समेत कई जिलों में शाम को तेज अंधड़ के साथ हल्की बारिश हुई। वहीं पेंड्रारोड और रायगढ़ में तेज हवाओं के साथ जोरदार बारिश हुई। प्रदेश में सबसे कम तापमान अंबिकापुर में 13.5 डिग्री दर्ज किया गया। राजधानी रायपुर में न्यूनतम तापमान 19.6 डिग्री रहा। दिन के तापमान में मामूली गिरावट भी आई है। न्यूनतम तापमान में हल्की बढ़ोतरी हुई है। 18 फरवरी तक इस तरह का मौसम रहने का अनुमान है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने और उत्तरी भाग में एक-दो स्थानों पर ओलावृष्टि होने की भी आशंका है। उन्होंने बताया इस करण से दिन के तापमान में कमी और रात का तापमान बढ़े रहने की संभावना रहेगी।

इस वजह से मौसम में बदलाव
मौसम विभाग के अनुसार विदर्भ के ऊपर एक चकरी चक्रवाती घेरा 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक द्रोणिका कोंकण से विदर्भ तक इसी ऊंचाई पर स्थित है। साथ ही प्रदेश में एक मजबूत हवा का अनियमित गति का क्षेत्र बना हुआ है। यह 18 फ रवरी तक बने रहने की संभावना है। इसके प्रभाव से प्रदेश के 17 और 18 फ रवरी को कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पडऩे की संभावना है। कहां कितना रहा न्यूनतम तापमान

पंडरिया : सब्जी, मौसमी फल के मौर व टमाटर और गोभी को नुकसान

मौसम में हुए एकाएक बदलाव के चलते कबीरधाम जिले में जमकर ओलावृष्टि व बारिश हुई। इसके चलते एक बार फिर से मौसम में थोड़़ी सी तब्दीली आई है। अचानक बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को भी नुकसान पहुंचा है। कवर्धा में दोपहर बाद रुक-रुककर बारिश होती रही, जबकि वनांचल में तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई। वनांचल ग्राम नेउर, कुई, कुकदूर, दमगड़, पोलमी, पुटपुटा, कांदावानी, रुखमीददर, बिरुलडीह और बोड़ला एरिया के रेंगाखार सहित अन्य गांवों में ओलावृष्टि हुई, जबकि अधिकतर क्षेत्रों में बारिश हुई। ओलावृष्ठि से मौसमी फल आम, जामुन, महुआ को काफी नुकसान हुआ है। इससे ग्रामीणों को लाखों रुपए का नुकसान होगा। इसके अलावा भिंडी, तरोई, ग्वार फल्ली, टमाटर, बरबट्टी की फसल को भी काफी नुकसान पहुंचा है। किसान मंतोष पटेल, तुलसी यादव ने बताया कि ग्राम लालपुर में सभी लोग सब्जी का व्यवसाय करते हंै। ओलावृष्टि के कारण टमाटर और गोभी को क्षति पहुंची है।

बिलासपुर : धूल भरी आंधी से कई इलाकों में बिजली गुल

सरगुजा-बिलासपुर सम्भाग में अधिकतर जगहों पर मंगलवार सुबह से बादल छाए रहे। दोपहर ढाई बजे के आसपास धूल भरी आंधी चली। शाम को हल्की बारिश होने से वातावरण में ठंडक आ गई। बिलासपुर शहर में दोपहर बाद धूल भरी आंधी चलने के बाद कई इलाकों में बिजली गुल हो गई। रायगढ़ में दोपहर करीब तीन बजे अचानक तेज धूल भरी आंधी चली। करीब आधे घंटे तक स्थिति यह हो गई थी कि सड़क में 10 से 15 फीट की दूरी तक लोग नजर नहीं आ रहे थे। सरगुजा के अधिकांश इलाकों में दोपहर 3 बजे के बाद हुई बारिश ने जन-जीवन को खासा प्रभावित किय़ा। जशपुर क्षेत्र में तेज बारिशजशपुर समेत लगभग समूचे जिले में दोपहर के बाद से तेज आंधी के बाद घंटों तक मूसलाधार बारिश हुई। बिजली की गरज और चमक के बाद जिला मुख्यालय जशपुर में भी कई घंटों तक बिजली की सप्लाई बाधित रही। समाचार लिखे जाने तक जशपुर में गरज के साथ तेज बारिश जारी है।

ramendra singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned